बाजवा का कार्यकाल बढ़ाने पर चीन में गदगद लेकिन पाकिस्तान क्यों है, गुस्सा

0
59

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के कार्यकाल को 3 साल तक के लिए बढ़ाए जाने के फैसले पर चीन ने खुशी जताई है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा चीन ने बुधवार को कहा कि बाजवा चीन सरकार के 'पुराने दोस्त' हैं जिन्होंने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में अहम भूमिका निभाई है.

पाकिस्तान के 58 वर्षीय जनरल बाजवा को नवंबर में सेवानिवृत्त होना था, लेकिन प्रधानमंत्री इमरान खान ने 'क्षेत्रीय सुरक्षा के माहौल' को देखते हुए उनका कार्यकाल 3 साल के लिए बढ़ा दिया.

58 वर्षीय जनरल बाजवा को नवंबर 2016 में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ द्वारा सेनाध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था. उन्हें नवंबर में रिटायर होना था, लेकिन प्रधानमंत्री इमरान खान ने 'क्षेत्रीय सुरक्षा के माहौल' को देखते हुए उनका कार्यकाल 3 साल के लिए बढ़ा दिया.

जनरल बाजवा के कार्यकाल के विस्तार के बारे में पूछे जाने पर, चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा कि पाकिस्तान सेना प्रमुख बाजवा ने चीन और पाकिस्तान के संबंधों को मजबूत करने में अहम योगदान दिया है.

उन्होंने कहा, 'हमने पाकिस्तान सरकार के फैसले पर गौर किया. जनरल बाजवा पाकिस्तानी सेना के एक असाधारण नेता हैं. वह चीनी सरकार और सेना के पुराने दोस्त भी हैं.'

जनरल बाजवा ने बीजिंग से 60 बिलियन अमेरिकी डॉलर के पाकिस्तान-चीन आर्थिक गलियारे (CPEC) के तहत पाकिस्तान में चीन के हितों की रक्षा करने का वादा किया है. बता दें कि यह गलियारा चीन के सबसे बड़े प्रांत शिनजियांग को बलूचिस्तान में पाकिस्तान के ग्वादर बंदरगाह से जोड़ेगा.

इस गलियारे में पाकिस्तानी सेना ने पहले ही एक बटालियन खड़ी कर दी है और CPEC के तहत चीनी नागरिकों और प्रतिष्ठानों की सुरक्षा के लिए एक और बटालियन बनाने की योजना की घोषणा की है. जनरल बाजवा के कार्यकाल को बढ़ाने के खान के फैसले पर चीन की टिप्पणी किसी आश्चर्य से कम नहीं है, क्योंकि चीन की तरफ से किसी अन्य देश द्वारा अपने अधिकारियों की नियुक्तियों पर सार्वजनिक रूप से टिप्पणी बहुत कम ही देखने को मिली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here