Tuesday, January 31, 2023
Delhi
mist
16.1 ° C
16.1 °
16.1 °
100 %
4.1kmh
0 %
Tue
23 °
Wed
23 °
Thu
24 °
Fri
25 °
Sat
26 °

22 October Black Day; क्यो 22 अक्टूबर को काला दिवस के रूप में मनाया जा रहा हैं।

द जम्मू एवं कश्मीर यूनिटि फांऊडेशन ने जम्मू कश्मीर के नागरिको से कहा हैं, कि 22 अक्टूबर को काला दिवस के रूप में मनाया जायेगा। जिसकी वजह से आज सोशल मीडिया पर #22OctBlackDay ट्रेन्ड कर रहा हैं। चलिए हम आपको बताते हैं, क्यो आज जम्मू-कश्मीर में ब्लैक डे मनाया जा रहा हैं। 22 October Black Day

क्यो मनाया जा रहा हैं ब्लैक डे-

आज यानि 22 अक्टूबर को पूरे जम्मू एवं कश्मीर में ब्लैक डे के रूप में मनाया जा रहा हैं।इसलिए आज ब्लैक डे मनाया जा रहा हैं क्योकि 1947 में पाकिस्तान की सेना ने पूर्व में स्थित जम्मू कश्मीर की रियासतो पर हमला कर दिया हैं। और इस हमले को कबायली हमला कहा गया था। जब पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर पर हमला किया था तो उसमें लाखों की तादाद में हिन्दू, मुस्लिम और सिक्ख लोग शहीद हुए थे।

क्या कहा जम्मू एवं कश्मीर यूनिट फाउंडेशन के प्रधान ने-

जम्मू एवं कश्मीर यूनिट फाउंडेशन के प्रधान ने आज पूरे जम्मू कश्मीर वासियो से काला दिवस मनाने की आग्रह करते हुए कहा हैं, कि 22 अक्टूबर 1947 को पाकिस्तान की सेना ने द्वारा किये गये हमले में हमने लाखो लोगो को खोया था। पाकिस्तान द्वारा किया गया यह घुसपैठ काबयली हमला नहीं हैं। 

इस विषय में सेमीनार करके लोगो को पाकिस्तान की सेना द्वारा की गई हिंसक नृशंसता के बारे में और भारत द्वारा एतिहासिक फैसला जो लिया गया जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाकर। 

उन्होने ने आगे कहा कि कश्मीर में पाकिस्तान के इरादो का नाकामायब करने की जरूरत हैें, कैसे कश्मीर में आतंकवाद, कफ्र्यू और घर मेें कैद रहकर आम जीवन को परेशान करता हैं। 

पाकिस्तान ने एक नीति के तहत 1947,1965 और 1999 से कश्मीर में आतंकवादियों को भेजकर यहाँ पर रहने वाले आम जनमानस को परेशान करता रहा हैं। इसके बाद उन्होने कहा हैं, कि  राष्ट्रविरोधी और शांति भंग करने वाले तत्वो को विफल बनाया जाये। 

उन्होने आगे कहा कि कुछ समय पहले ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने अपने द्वारा दिये गये सयुक्त राष्ट्र में भाषण के जरिये 72 साल बाद भी पाकिस्तान के मंसूबे के बारे में बता दिया हैं।

22 October Black Day in J&K ऐसी ही खबरे और देश व विदेश  से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे साइट जागरूक हिन्दुस्तान से जुड़े तथा हमारे फेसबुक और ट्वीटर अंकाउड को फालो करके हमारे नये आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाये।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

3,650FansLike
8,596FollowersFollow

Latest Articles