Agnipath Scheme; अग्निपथ स्कीम पर क्यो बिहार से लेकर गुडगाँव तक सड़क पर उतरे छात्र, जानिए क्यो हो रहा है,इसका विरोध

Date:

Agnipath Scheme|Agniveer | Agneepath Recruitment Scheme |Agniveers| गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अग्निपथ स्कीम की घोषणा की थी। जिसके तहत सेना में युवाओ की भर्ती की जानी हैं। इस स्कीम के विरोध में छात्रों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर की नारेबाजी, जगह-जगह पर आगाजनी, पथराव व रेलवे ट्रेैक को किया जाम

Agnipath Scheme क्या हैं-

अग्निपथ भर्ती योजना' के जरिये युवाओं को चार साल के लिए सेना में शामिल होने का मौका मिलेगा। इस स्कीम के तहत जिन युवाओ न 10वीं व 12वीं की पढ़ाई कर ली हैं और साढ़े 17 साल से लेकर 21 साल के बीच उनकी उम्र सीमा हैं, वो आवेदन कर सकते हैं।। इस योजना की शुरूआत 90 दिन के भीतर हो जाएगी। सरकार द्वारा बताया गया कि इस साल 46 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जाएगी। जिसके तहत पहली भर्ती प्रक्रिया में युवाओं को छह महीने की ट्रेनिंग दी जाएगी। ट्रेनिंग का समय 4 साल तक होगा। 

Agnipath Scheme Protest Live-

बिहार के जहानाबाद और नवादा में लगातार दूसरे दिन तक प्रोटेस्ट जारी रहा हैं। छात्र सड़को पर उतर आये हैं और जगह-जगह पर कर रहे हैं, इसका विरोध ये बिहार से लेकर गु़ड़गाव तक फैल चुका हैं।  जहानाबाद में एनएच 83 को छात्रो ने जाम कर आगजनी कर विरोध किया हैं। अग्निपथ योजना का विरोध मुंगेर में भी हुआ। ये आक्रोश दिल्ली में भी पहुचँ चुका हैं। . गुरुग्राम में दिल्ली-जयपुर हाइवे को जाम कर दिया हैं। 

अग्निपथ स्कीम के खिलाफ क्यो हो रहा विरोध-

छात्रो का कहना हैं कि भर्ती पहले की तरह की जाए। टूर ऑफ ड्यूटी (टीओडी) को वापस लिया जाए तथा परीक्षाओं को भी पहले की ही तरह आयोजित कराया जाए। उनका कहना हैं कि 4 साल सेना में काम करने के बाद हम कहाँ जाएगे। क्या करेगे। 4 साल सेवा करने के बाद हम बेघर हो जाएगा।

 यही वजह है, कि हमने सड़कों को जाम किया हुआ हैं। उनका कहना हैं, कि हम इस भर्ती प्रक्रिया के लिए बहुत मेहनत करते हैं। उनका कहना हैं कि महीनों के प्रशिक्षण और छुट्टी के साथ 4 साल की सेवा कैसी होगी और केवल 3 साल के प्रशिक्षण के बाद हम देश की कैसे रक्षा करेगे। सरकार को अपनी यह योजना वापस लेना होगा। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related