अयोध्या राम मंदिर मुहूर्त से आई चौकाने वाली खबर मुहुर्त निकालने वाले पंडित को मिली जान से मारने की धमकी

0
​अयोध्या राम मंदिर मुहूर्त
Credit JagRuk Hindustan

​​अयोध्या राम मंदिर मुहूर्त निकालने वाले पंडित को जान से मारने की धमकी। वर्षों बाद कल अयोध्या में रामजन्म-भूमि का भूमि-पूजन होने जा रहा हैं। रामजन्म-भूमि के भूमि-पूजन के दिनांक को लेकर पहले से ही काफी बहस चल रही थी। शंकराचार्य जी का कहना हैं, कि 5 अगस्त का दिन शुभ नहीं हैं, क्योकि हिन्दू धर्म में इस माह में कोई शुभ कार्य नहीं होते हैं। इसलिए इस दिन रामजन्म-भूमि का पूजन नहीं होना चाहिए। तथा वही बाकि धर्म गुरूओं का मानना हैं, कि यह दिन शुभ हैं। लेकिन एक खबर आ रही हैं। कि रामजन्म-भूमि की भूमि पूजन की तारीख निकालने वाले पंडित को जान से मारने की धमकी मिली हैं। 

क्या हैं, पूरा मामला -

जहाँ अयोध्या में राम जी के मन्दिर निर्माण की खबर सुनकर भारत के साथ-साथ भारत के बाहर रहने वाले भारतियों की खुशी का ठिकाना नहीं हैं। सभी लोग चाहते हैं। कि जल्द से जल्द रामलल्ला का भव्य मन्दिर बने तथा वो उसमें विराजमान हो सके। इसके लिए भूमि-पूजन का दिन 3 अगस्त तथा 5 अगस्त रखा गया था। उसके बाद प्रधानमंत्री नरेन्द मोदी जी को सुझाव दिया गया था। उन्होनें 5 अगस्त की तारीख को तय किया रामजन्म-भूमि के भूमि पूजन के लिए जिसके बाद पूरी अयोध्या को दुल्हन की तरह सजा दिया गया हैं। लेकिन भूमि-पूजन की तारीख को लेकर लोगो में बहस चल रही हैं। जिसके चलते भूमि-पूजन की तारीख तय करने वाले पुजारी को जान से मारने की धमकी मिल रही हैं। कि उन्होने क्यो 5 अगस्त ही तय कि भूमि-पूजन की ताऱीख। 

क्या कहना हैं, रामजन्म-भूमि की तारीख तय करने वाले पंडित का -

​​​अयोध्या राम मंदिर मुहूर्त की तारीख तय करने वाले पंडित विजेन्द शर्मा जी का कहना हैं, कि उनको रोज अज्ञात लोगो का फोन आते हैं। तथा उनको जान से मारने की धमकी देते हैं,तथा कहते हैं, कि उन्होने रामजन्म-भूमि की तारीख किससे पूछ कर और क्यो तय की हैं। अगर वो रामजन्म-भूमि की तारीख नहीं बदलेगे तो उन्हे जान से मार दिया जायेगा। बता दि कि पंडित विजेन्द्र शर्मा कर्नाटक के रहने वाले हैं। इस समारोह के आयोजको  ने पंडित शर्मा जी से आग्रह करके राममन्दिर की तारीख तय करने को कहा था। ​अयोध्या राम मंदिर मुहूर्त

​अयोध्या राम मंदिर मुहूर्त

Credit JagRuk Hindustan

क्या कहना इस मामले में प्रशासन का -

​जब इस मामले की खबर पुलिस को पता चली तो उन्होने कहा कि पंडित विजेन्द्र शर्मा जी की सुरक्षा बढ़ा दी गयी हैं। तथा उनके कॉल डिटेल निकाला जा रहा हैं। और अज्ञात लोगो के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गयी हैं।  

इससे पहले कब तय हुई थी राम-मन्दिर की तारीख -

राम मन्दिर के आयोजको ने भूमि-पूजन की तारीख तय करने के लिए फरवरी में पंडित शर्मा जी से बातचीत की थी तथा जिसके बाद अप्रैल माह में अक्षय तृतीया के दिन भूमि-पूजन का निर्णय लिया गया था। लेकिन कोरोना की वजह से पूरे देश में लॉकडाउन कर दिया गया था। जिसकी वजह से तारीख को आगे बढ़ा दिया गया था। तथा उन्होने 5 अगस्त की तारीख निकाली। उनका कहना हैं, कि इस माह में भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ था। जो कि भगवान विष्णु के ही अवतार थे तो ये माह में ​​अयोध्या राम मंदिर मुहूर्त अशुभ कैसे हो सकता हैं।  

अयोध्या राम मंदिर से जुड़े हर खबर पर नजर बनाये रखने के लिए जुड़े हमारी साइट जागरूक हिंदुस्तान से तथा तजा खबरों की जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक और ट्विटर पेज को फॉलो करे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here