कोरोना महामारी ग्रामीण इलाको में पसार रहा है अपने पैर

0
186
कोरोना महामारी ग्रामीण इलाको
Credit JagRuk Hindustan

देश में कोरोना वायरस की वजह से कई लोग बेरोजगार होते जा रहे है। इस समय कोरोना महामारी ग्रामीण इलाको में अपना असर और तेजी से दिखा रहा है। अभी तक तो केवल शहरो में ही कोरोना का प्रकोप था अब तो यह बढ़ते हुए सहरी इलाको से ग्रामीण इलाको तक पहुंच चूका है। जिससे लोगो को काफी दिक्कत झेलनी पड़ रही है। ग्रामीण अपना ब्यापार नहीं कर पा रहे। जिससे उनको बहुत सी परेशानियां हो रही है।

अर्थव्यवस्था का हाल बुरा -

कुछ तो ग्रामीण गावों से शहर में नौकरी करने जाते है। लेकिन अब कोरोना महामरी के वजह से नहीं जा पा रहे है और इसके साथ ही बेरोजगार होते जा रहे है। देश में अभी तक 1.89 करोड़ लोगो की नौकरियाँ जा चुकी है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इकॉनमी (CMIE) ने बताया है की जुलाई के महीने में लगभग 50 लाख लोगो ने अपनी नौकरिया गवां दी है। लॉकडाउन के दौरान भारत में बहुत से कम्पनिया और फ़ैक्टरिया बंद हो गयी थी। जून में जैसे ही अनलॉक की प्रक्रिया  स्टार्ट हुई वैसे ही कुछ लोगो को नौकरिया मिलने लगी थोड़ी सी परेशानी दूर होने लगी वैसे ही कोरोना महामारी तेजी से फैलते देख सरकर ने छोटे छोटे लॉकडाउन लगाने लगी जिससे फिर से लोगो की नौकरियाँ जाने लगी।

2 करोड़ लोगो की नौकरी गयी -

CMIE के अनुसार अप्रैल में लोगो ने लग भाग 1.77 करोड़ नौकरियाँ गंवाई थी। मई में करीब 1 लाख लोगो की नौकरियाँ से हाथ धोना पड़ा। इसके बाद जून में अनलॉक की प्रक्रिया स्टार्ट हुई जिसमे लग भाग 39 लाख नौकरियाँ लोगो को मिली थी। जैसे ही कोरोना महामारी को बढ़ते देख सरकार को फिर से लॉकडाउन करने का फैसला लेना पड़ा जिसके चलते लोगो की फिर से नौकरियाँ जाने लगी। भारत देश में लग भाग 21% लोग नौकरी पेशा वाले है। जिन पर कोरोना की मार सबसे ज्यादा पड़ी है।

CMIE ने जारी किया देता -

CMIE ने बताया की जब से लॉकडाउन लगाया गया था तभी से नौकरीपेशा कर्मचारियों की स्थिति बहुत ही गंभीर थी। लॉकडाउन ख़तम होते होते लोगो का बहुत ही बुरा हाल हो गया। अब तो ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है। कोरोना महामारी ग्रामीण इलाको में फैलने से किसानो का खेतो काम करना मुश्किल हो गया है। न ही पैदा की हुई फसल को शहरी इलाको तक ले जा पा रहे है। इससे अब ग्रामीणों को भी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। देश में कोरोना मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी होती जा रही है। कही कही तो हॉस्पिटल में बेड तक मरीजों को नहीं मिल पा रहे है। अभी तक देश में कोरोना के मरीजों की संख्या 20 लाख के ऊपर पहुंच चुकी है।

वर्तमान में जारी डाटा -

देश में अभी तक लग भग 1.89 करोड़ लोगो की नौकरियाँ जा चुकी है। लोग बेरोजगार होते जा रहे है। लोगो की हालत बिगड़ती जा रही है। कोरोना की वजह से देश की इकोनॉमी बिगड़ती जा रही है। सरकार देश की इकोनॉमी बचाने के कई प्रयास कर रही है जिससे देश की इकोनॉमी सही हो जाये। देश में बढ़ती बेरोजगारी एक चिंता का विषय है।

कई देश कोरोना की वैक्सीन बनाने में लगे हुए है। कुछ देशो ने तो दावा किया की उन्होंने वैक्सीन बना ली है। लेकिन उसके बाद में साइड इफ़ेक्ट देखने को मिले जिसके कारण अभी तक कोरोना की कोई भी वैक्सीन पूरी तरह से सफल नहीं हुई है। सभी देश इस महामारी से छुटकारा पाना चाहते है। जिससे देश की आर्थिक व्यवस्था ठीक हो सके और साथ ही लोगो को उनका रोजगार मिल सके।

जागरूक हिंदुस्तान न्यूज़ पोर्टल का मुख्य उद्देश्य अपने पाठको तक देश दुनिया की हर खबर पहुंचाने की है। आप हमारे फेसबुक अकाउंट तथा ट्विटर पेज से जुड़कर हमारे नई आर्टिकल्स की अपडेट्स पा सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here