Corona vaccine update: कब आयेगी भारत में कोरोना वैक्सीन? जल्द ही आ सकती हैं वैक्सीन

0
112
कोरोना वैक्सीन COvaxin
Credit JagRuk Hindustan

Corona vaccine update, Corona vaccine in India दुनिया भर में कोरोना वैक्सीन को लेकर लोगो के मन में लगातार सवाल उठ रहे हैं, कि कबतक आयेगी कोरोना वैक्सीन क्योकि आये दिन कोविड-19 के मरीजो की संख्या बढ़ती जा रही है। और भारत में तो अब एक दिन में लाख के पास पहुचँ गया हैं। जिसकी वजह से कोरोना की वैक्सीन का लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। चलिए हम आपको बताते हैं, भारत में कबतक आ सकती हैं कोरोना वैक्सीन?

विस्तार-

Corona vaccine update: कोरोना वैक्सीन को लेकर दुनिया भर में ट्रायल चल रहा हैं। तो वही कई देश ये भी एलान कर चुके हैं, कि उन्होने कोरोना की वैक्सीन बना ली हैं। जिसमें से रूस का नाम सबसे पहले आता हैं। लेकिन अभी WHO ने रूस की इस वैक्सीन पर पूर्ण रूप से मोहर नहीं लगाया हैं। क्योकि इस वैक्सीन का ट्रायल रूस ने बहुत ही कम समय में पूरा कर लिया था। दुनिया भर आक्सफोर्ड सहित हर एक देश वैक्सीन का ट्रायल करने में लगा हुआ हैं। जिसमें से भारत में 3 वैक्सीन पर ट्रायल चल रहा हैं। जिसमें से “COVAXIN” को लेकर एक अच्छी खबर आयी हैं। इस वैक्सीन का दो ट्रायल का परीक्षण सफल हो चुका हैं। तथा तीसरे ट्रायल के लिए मंजूरी भी मिल गयी हैं।

किस राज्य को मिली हैं, COVAXIN के ट्रॉयल की मंजूरी-

Corona vaccine in India : भारत में “COVAXIN” के तीसरी फेज में ट्रॉयल के लिए भारत के उत्तर-प्रदेश में मंजूरी मिल गयी हैं। आपको बता दे कि उत्तर-प्रदेश में लखनऊ और गोरखपूर में “COVAXIN” का दो फेज में ट्रॉयल पूरा हो चुका हैं। इसकी सूचना उत्तर प्रदेश के मुख्य स्वास्थ्य सचिव ने दी हैं। उन्होने कहा कि लखनऊ में एसजीपीआई और गोरखपूर में बीआरडी मेडिकल कालेज बायोटेक के साथ मिल कर अक्टूबर में ट्रायल शुरू हो जायेगा।

“COVAXIN” किस कम्पनी द्वारा तैयार हुआ है-

Corona vaccine in India : भारत में “COVAXIN” का निर्माण बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड ने भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) व राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी) के साथ मिलकर भारत की पहले स्वदेशी टीके पर कार्य कर रहा हैं कम्पनी द्वारा किया गया हैं।

क्या होता हैं, तीसरे चरण में-

विशेषज्ञो का कहना है,कि तीसरे चरण में यह देखा जाता हैं,कि लोगो में एंटीबाडी तैयार हुआ हैं, कि नहीं इसका कोई दुषप्रभाव तो नहीं हैं। वैक्सीन के ट्रायल के समय एडीबॉडी चेक किया जाता हैं, अगर एंडीबॉडी शून्य हैं, तो टीका का प्रयोग उस व्यक्ति पर किया जाता हैं। कोरोना का टीका अलग-अलग उम्र के लोगो को लगाया जाता हैं। टीका लगाने के बाद ब्लड टेस्ट किया जाता हैं। अगर शरीर में एंडीबॉडी बन रही हैं तो टीका का परीक्षण सफल हैं।

कबतक भारत में आ सकता हैं कोरोना का टीका-

Corona vaccine update:  भारत में “COVAXIN” के तीसरे ट्रायल की उत्तर-प्रदेश को अक्टूबर में जाँच करने की भले ही मंजूरी मिल गयी हैं। लेकिन अभी भी किसी भी कम्पनी द्वारा कोविड-19 की वैक्सीन कबतक आयेगी इसको लेकर  तारीख तय नहीं की गयी हैं। लेकिन उम्मीद यही हैं, कि 2021 के शुरूआती समय में कोरोना की वैक्सीन के आने की संभावना की जा सकती हैं।

कोविड-19 और देश-दुनिया की ताजा जानकारी पाने के लिए हमारे साइट जागरूक हिन्दुस्तान से जुड़े तथा हमारे फेसबुक और ट्वीटर अंकाउड को फालो करके हमारे नये आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here