कोरोना कि वैक्सीन तैयार होते ही सरकार मुफ्त में वैक्सीन उपलब्ध करायेगी, 70 दिनो बाद तैयार हो सकती हैं, वैक्सीन

0
347
कोरोना वैक्सीन COvaxin
Credit JagRuk Hindustan

इस समय कोरोना महामारी पूरी दुनिया में फैला हुआ है। और इस कोरोना महामारी से निजात पाने के लिए पूरी दुनिया इसकी वैक्सीन बनाने में लगी हुयी है। लेकिन अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है। भारत में हर रोज लग भग 60 हजार से अधिक कोरोना मरीजों की संख्या सामने आ रही है। जिसकी वजह से लोगो की जिंदगी रुक सी गयी है। और आम जनता का तो बुरा हाल है।

इसी बीच एक खुशी कर देने वाली खबर सामने आई है। की भारत की पहली कोरोना वैक्सीन कोवीशिल्ड जिसे सीरम इस्टीट्यूट  तैयार कर रहा है। जो की 73 दिनों में उपलब्ध हो सकती है। कोवीशील्ड वैक्सीन को नेशनल इम्यूनिसेजन प्रोग्राम के कोरोना कि वैक्सीन तैयार होते ही सरकार मुफ्त में वैक्सीन उपलब्ध करायेगी।

क्या बताया विशेषज्ञो ने -

सीरम इंस्टिट्यूट के बड़े अधिकारी ने बताया है की सरकार हमें स्पेशल मैन्युफ़ैक्चरिंग के लिए एक आधिकारिक लाइसेंस दिया है, जिससे वैक्सीन का तेजी से ट्रायल हो सके। यह ट्रायल अगले 58 दिनों में पूरा हो जायेगा। इसके साथ ही तीसरे चरण में कोरोना मरीज को वैक्सीन देने का काम शुरू हो चूका है। इसी के साथ पहली खुराक देने के बाद और दूसरी खुराक देने के 15 दिन बाद फ़ाइनल ट्रायल सामने आएगा। जब तक फ़ाइनल ट्रायल सामने आता है तब तक हम कोविशील्ड को लोगो तक पहुंचाने के लिए एक रणनीति तैयार कर रहे है। जिससे लोगो तक वैक्सीन आसानी से पहुंच सके।

कब तक पूरा होगा वैक्सीन का ट्रॉयल -

इससे पहले सुनने में आ रहा था की कोरोना वैक्सीन के अंतिम ट्रायल में लग भग 7-8 महीने लग सकते है। इसका ट्रायल 1600 वालंटियर पर 17 अलग अलग सेंटरों में किया जा रहा है। इसके साथ ही 22 अगस्त से इस ट्रायल को 100-100 की टुकड़ी में किया जायेगा। केंद्रीय स्वास्थ मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने बताया की हमारे कई वैक्सीनों का ट्रायल चल रहा है लेकिन उनमे से एक ऐसी वैक्सीन है जिसका तीसरे और अंतिम चरण का क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है। और हमारे केंद्रीय स्वास्थ मंत्री का कहना है की हमें पूरा विश्वास है की इस साल के अंत तक कोरोना की वैक्सीन तैयार हो जाएगी।

क्या कहा केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने -

केंद्रीय स्वास्थ मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने मीडिया से बात करते हुए बताया की इसके आलावा जो भी वैक्सीन के ट्रायल चल रहे है, उनमे से कुछ तो 2021 की पहली त्रैमासिक तक लोगो को मिल सकेगी। और इसके साथ यह भी बताया की कोरोना वैक्सीन का ट्रायल पूरा हो जाने पर ही इसके प्रभाव के बारे में जानकारी मिलेगी। और ये भी कहा की आक्सफोर्ड की जिस कोरोना वैक्सीन का उत्पादन भारत के सीरम इंस्टिट्यूट ने किया है उसको भी लोगो तक पहुंचाने में तेजी से काम चल रहा है। जिससे कोरोना के मरीज जल्द ही ठीक हो के अपने घर वापस जा सकेंगे। और इस महामारी से देश छुटकारा पा सकेगा।

वैक्सीन से जुड़े अन्य अपडेट्स -

केंद्रीय स्वास्थ मंत्री ने दवा करते हुए कहा की भारत बायोटिक और जाइडस कैडिला के वैक्सीन के ट्रायल पूरा होने के बाद इनके उत्पादन को बढ़ाने और मार्केट में लाने में लग भग एक महीने का और समय लग सकता है। केंद्रीय स्वास्थ मंत्री ने भरोसा दिलाते हुए कहा की यह दोनों वैक्सीन 2021 के पहली त्रैमासिक तक लोगो तक उपलब्ध हो सकेंगी। देश में दिन पर दिन कोरोना मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है यहाँ तक की एक दिन में 60 हजार से ऊपर कोरोना के मरीजों की संख्या आ रही है। जोकि एक चिंता का विषय बनता जा रहा है। लेकिन अब खुसी की बात यह है की देश में कोरोना वैक्सीन जल्द ही आने वाली है। 

कोरोना वैक्सीन से जुडी हर अपडेट्स के लिए हमारी साइट जागरूक हिंदुस्तान से जुड़े। हमारे नए आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाने के लिए आप हमारे फेसबुक और ट्विटर पेज से जुड़ सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here