Debt on Indian Government | Shri lanka की ही तरह हो जायेगी भारत के इन राज्यो की बहुत खराब हालात खाने के लिए तरस जायेगे लोग

Date:

Debt on Indian Government | Debt on State Government in India | Shri lanka की ही तरह भारत के ये राज्य भी हो सकते हैं जल्द ही कंगाल, डूब गये हैं,  पूरी तरह से कर्ज में जानिये कौन-कौन से हैं ये राज्य 

भारत के किन राज्यो पर हैं कर्ज-

भारत के जिन राज्यों पर कर्ज का बोझ सबसे ज्यादा है उनमें पंजाब, दिल्ली, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल शामिल हैं। इनका मुख्य कारण हैं, फ्री सुविधा उपलब्ध कराना क्योकि इसकी वजह से सरकारी खाते से पैसा देना पड़ता हैं और सरकार  पर कर्ज बढ़ता हैं।

महाराष्ट्र और गुजरात जैसे आर्थिक रूप से मजबूत राज्यों पर भी कर्ज का बोझ कम नहीं है. गुजरात का कर्ज-जीएसडीपी अनुपात 23 फीसदी तो महाराष्ट्र का 20 फीसदी है।

 क्यो किसी देश की सरकार लेती हैं कर्ज-

दुनिया में शायद ही ऐसा कोई देश हो जिसने अपने देश को चलाने के लिए ऋण (आंतरिक या बाह्य ऋण) ना लिया हो। इसके पीछे ,मुख्य कारण यह है कि सरकार का मुख्य उद्येश्य अपने देश के नागरिकों के कल्याण में वृद्धि करना होता है ना कि अपनी आमदनी में वृद्धि करना।

 Indian Government Debt( भारत सरकार पर कर्ज)-

वर्ष

राशि (करोड़ रु.)

GDP का अनुपात

2011-12

5917279

67.7

2012-13

6659778

67.0

2013-14

7566767

67.4

2014-15

8334829

66.8

2015-16

9475280

68.8

2016-17

10524777

68.4

2017-18

11740614

68.7

2018-19

13023102

68.6

पंजाब का जितना जीडीपी है उसका करीब 53.3 फीसदी हिस्सा कर्ज है. इसी तरह राजस्थान का अनुपात 39.8 फीसदी, पश्चिम बंगाल का 38.8 फीसदी, केरल का 38.3 फीसदी और आंध्र प्रदेश का कर्ज-जीएसडीपी अनुपात 37.6 फीसदी है।उत्तर प्रदेश व गोवा द्वारा इलेक्शन के दौरान फ्री की घोषणा की गयी हैं। अगर ऐसा हुआ तो यहाँ  के सरकारी कोष पर बोझ बढ़ सकता हैं।      

देश-विदेश से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे साइट जागरूक हिन्दुस्तान से जुड़े तथा हमारे फेसबुक और ट्वीटर अंकाउड को फालो करके हमारे नये आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाये। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related