ब्राह्मणों के उत्थान के लिए कार्य करने वाले दिनेश रनेजा जी पर हुआ जानलेवा हमला

0
ब्राह्मणों के उत्थान
credit JagRuk Hindustan

ब्राह्मणों के उत्थान का सामाजिक कार्यकर्ता तथा ब्राह्मणों की दबती हुई आवाज को सरकार तक पहुचाने का कार्य पिछले 4 वर्षों से कर रहे हैं दिनेस रनेजा जी पर हुआ जानलेवा हमला। कुछ लोग उनकी आवाज को दबाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने हमारे द्वारा लिये गये इन्टव्यू में बताया हैं, कि कैसे उनकी आवाज दबाने की कोशिश की गयी हैं तथा उनपर किस प्रकार जानलेवा हमला हुआ हैं। 

​दिनेश रनेजा जी ने हमें दिये हुए इन्टरव्यू में बताया हैं, कि वो भारत के हर एक कोने में जहाँ पर भी ब्राह्मणों के उत्थान तथा उनकी आवाज ​को दबाने की कोशिश किया गया हैं। या उनको उनके हक से वंचित किया गया हैं। वहाँ पर उन्होने आगे बढकर उन लोगो की मद्द की हैं। फिर चाहे किसी की भी सरकार रही हो। उन्होंने इंसाफ के लिए उस सरकार पर हल्ला बोला हैं।

​ क्या है पूरा मामला -

​लेकिन आपको बता दे कि कल रात जब वो अपने पिता तथा कुछ दोस्तों के साथ अपने निजी वाहन से बाहर गये हुए थे। लेकिन जब वो देर रात अपने निवास स्थान पुष्कर को लौट रहे थे। तब कुछ अज्ञात लोगो ने उनके वाहन पर जानलेवा हमला कर दिया।

दिनेश रनेजा जी ने हमें दिये हुए इन्टरव्यू में यह भी बताया हैं, कि उन्होंने आते वक्त अपना रास्ता तक बदल दिया था। जिस रास्ते से वो गये थे। उस रास्ते से वापस नहीं आ रहे थे। इसके बावजूद भी कुछ लोग पहले से घात ही लगाकर बैठे हुए थे। जब उनका वाहन देर रात 12 बजे के करीब वहाँ से निकला तो उन्होंने उनपर हमला बोल दिया। लेकिन वहां की प्रशासान, आस-पास के लोगो तथा उनके सहयोगी एस.एस. टाइगर राजपुरोहित, राहुल पारिक तथा 36 बिरादरी के व उनके समाज के लोगो को जैसे ही रात में ये सूचना मिली वो लोग उसी समय उनकी मद्द के लिए पहुँच गये। तथा उन अपराधियों के इरादों को नाकाम कर दिया। उन्होंने ने वहां के प्रशासन का  आभार भी व्यक्त किया हैं।  अगर आज वो सुरक्षित हैं, तो इसमें उन 20 पुलिसकर्मियों का महत्वपूर्ण योगदान हैं। जिन्होने सुरक्षित उनको उनके परिवार के पास पहुँचाया।

दिनेश रनेजा जी ने  आगे की कार्यवाही के बारे में क्या बताया-

दिनेश रनेजा जी ने हमें दिये हुए अपने इन्टरव्यू में बताया हैं, कि जिन लोगो ने भी उनकी आवाज को दबाने के लिए उनपर ये जानलेवा हमला किया हैं। उनके खिलाफ सख्त  से सख्त कार्यवाही की जायेगी।

दिनेश रानेजा जी

Credit jagruk hindustan

उन्होने ये भी कहा की अगर वो लोग ये सोच रहे हैं, कि वो लोग इस प्रकार के हमले करवा कर मेरी  आवाज को नीचे दबा देगे। या  मुझे भयभीत कर देगे।  तो ये उन लोगो की मुर्खता हैं।  उनके द्वारा किये गये इस तुच्छ कार्य से मेरे हौसले में कोई कमी नहीं आयेगी।  मैं ब्राह्मण समाज के लोगो के अधिकारों के लिए आवाज उठता रहा हूँ। और आगे भी उठाता रहूँगा।  और जिनके अधिकारों का हनन हो रहा होगा। फिर वो कोई सी भी सरकार या कोई भी व्यक्ति हो जिसके द्वारा किसी भी व्यक्ति के अधिकारों का हनन होगा वो उसका विरोध करेगे तथा निर्दोष व्यक्ति को न्याय दिलायेगे।

उनका ये भी कहना हैं, कि उनकी लड़ाई किसी विशेष जाति-धर्म या किसी पार्टी से  नहीं  हैं। उनकी लड़ाई ब्राह्मणों के उत्थान तथा उनकी आवाज की दबती हुए आवाज को सरकार तक पहुचाने तथा उनको न्याय दिलाने की हैं।

ऐसे ही देश दुनिया तथा मनोरंजन जगत से जुड़ी ताजा खबरो की जानकारी के लिए हमारे साथ आईये और फालो कीजिए हमारे  फेसबुक   पेज को और जुड़े रहिये हमारे जागरूक हिंदुस्तान साइट से। हमारे ट्विटर अकाउंट को फॉलो करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here