Friday, December 1, 2023
Delhi
mist
21.1 ° C
21.1 °
21.1 °
78 %
1.5kmh
40 %
Fri
23 °
Sat
26 °
Sun
26 °
Mon
26 °
Tue
26 °

UP Politics| पूर्वांचल के गद्दावर नेता पंडित हरिशंकर का क्या वास्तव में हो गया हैं निधन जानिये

Harishankar Tiwari (पंडित हरिशंकर तिवारी ) जो कि यूपी पूर्वांचल के बाहुबली नेता के रूप में जाने जाते हैं, ऐसा कहा जाता हैं, कि भारत में अपराध से लेकर राजनिति का रिश्ता अगर किसी ने जोड़ा हैं तो वो थे पंडित हरिशंकर तिवारी 

Pandit Harishankar Tiwari Death-

UP Politcis |उत्तर प्रदेश पूर्वांचल के बाहुबली नेेता हरीशंकर तिवारी जी का रविवार देर रात निधन हो गया हैं।इस समय सोशल-मीडिया पर ये खबरे हो रही हैं, वायरल और कहा जा रहा हैं, कि पंडित जी की मृत्यु के बाद उनके बेटे विनय तिवारी व कौशल तिवारी जो इस समय सपा के नेता हैं, उन्होने अंतिम संस्कार किया। इनके समस्त समर्थकों में शोक की लहर दौड़ रही है। लेकिन आपको बता दे कि ये खबर बिल्कुल झूठ हैं। 

Pandit Harishankar Tiwari कौन हैं-

आपको बता दे कि ये उत्तर में नेपाल और दक्षिण के मध्य प्रदेश के बघेलखंड क्षेत्र से जुड़े हुए हैं।बताया जाता हैं, कि ये उस समय के सबसे पहले माफिया थे जिन्होने राजनिति व अपराध के मध्य रिश्ता कायम किया था। कि योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के महज एक माह बाद 22 अप्रैल 2017 गोरखपुर पुलिस द्वारा कार्रवाई की गयी थी। जो अब उसके ही हलक की फांस बन गई है।

हरिशंकर तिवारी के बारे में कहा जाता था कि वो गरीबो के दिलों में और अमीरो के दिमाग पर राज करते हैं। जैसे ही उनके खिलाफ पुलिस कार्यवाही करने जाती हैं। तो पूरा शहर बम-बम शंकर जय हरिशंकर से  गूज जाता हैं। जिसके बाद पुलिस भी उनके खिलाफ बोलने से कतराती हैं। 

लेकिन एक समय ऐसा आया जब पंडित जी की राजनिति को किसी कि नजर लग गयी और उन्हे हार का सामना करना पड़ा। 2012 के इलेक्शन में पहले स्थान पर राकेश त्रिपाठी ने जीत हासिल की थी। व हरिशंकर तिवारी को तीसरा स्थान मिला था। जिसके बाद लगातार हार होने के कारण हरिशंकर तिवारी जी ने अपने दोनों बेटे के साथ साथ भांजे को भी राजनीति की दुनिया में दाखिला करवा दिया था।

पहले इनके बेटे बसपा में थे। लेकिन इस साल वो सपा में शामिल हो गये। पंडित जी के घर को तिवारी हाता के नाम से पूरे पूर्वांचल में जाना जाता हैं। आपको बता दे कि Harishankar Tiwari Death News Fake हैं। और वो अभी जिंदा हैं। 

देश-विदेश से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे साइट जागरूक हिन्दुस्तान से जुड़े तथा हमारे फेसबुक और ट्वीटर अंकाउड को फालो करके हमारे नये आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाये। 

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

3,650FansLike
8,596FollowersFollow

Latest Articles