जेईई और नीट की परीक्षा को लेकर शिक्षा मंत्री निशंक ने दिया बयान

0
338
नीट जेईई की परीक्षा
Credit JagRuk Hindustan

कोरोना के चलते पूरे भारत में लॉकडाउन लगने की वजह से और संक्रमण ना फैले इसकी वजह से केन्द्र सरकार द्वारा सारी परीक्षाये टाल दी गयी थी। जेईई और नीट परीक्षा को लेकर इस समय पूरे देश में घमासान मचा हुआ हैं। स्टूडेन्ड तथा पैरेन्ट्स का कहना हैं, कि जब संक्रमण का खतरा और अधिक हो गया तो इस समय परीक्षाओं की डेट को आगे बढ़ा देना चाहिए। शिक्षा मंत्री निशंक ने कहा हैं, कि स्टूडेन्ट चाहते हैं, कि हर हाल में परीक्षाये करायी जाये।

विस्तार-

जेईई और नीट परीक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा परीक्षा की तारीख को आगे टालने की याचिका रद्द कर दी गयी हैं। छात्रो को कहना हैं, कि बहुत से छात्र ऐसे हैं, जिनका सेन्टर उनके जिले में नहीं पड़ा जिसकी वजह से उनको कोरोना काल में एक जगह से दूसरे जगह जाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। तथा भारी तादात में छात्रो के आने की वजह से कोरोना का संक्रमण फैलने का भी डर हैं। इसलिए  

छात्र चाहते हैं,कि सरकार द्वारा परीक्षा की तारीखो को आगे बढ़ा दिया जाये। मेडिकल प्रवेश परीक्षा तथा एनईईटी और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन्स के लिए अभी तक कुल 14 लाख से अधिक छात्रो ने प्रवेश पत्र डाउनलोड कर लिये हैं।

 JEE मेन्स की परीक्षा 6 सिंतबर तक तथा NEET की परीक्षा 13 सिंतबर तक कराने की योजना बनायी गयी हैं।

क्या कहा शिक्षामंत्री ने-

शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा हैं, कि JEE तथा NEET की परीक्षाओं को लेकर पूरी तैयारियाँ की जा रही हैं,कि उनको किसी भी तरह की परेशानियों का समाना ना करना पड़े तथा कोरोना का संक्रमण भी ना फैले इसके लिए पूर्ण व्यवस्था की जा रही हैं।  जहाँ पहले जेईई की परीक्षा केन्द्रो की संख्या 570 थी अब उसे बढ़ाकर 660 कर दी गयी हैं। तथा नीट के छात्रों की परीक्षा केन्द्रो की सीटे पहले 2,546 थी लेकिन अब  बढ़ाकर 3,842 कर दी गयी हैं। तथा इस बात का भी ख्याल रखा जा रहा हैं, कि परीक्षा केन्द्र छात्रो की मनपसंद के आंवटित किये जाये।

क्या कहना हैं, इस पर राज्यो की सरकारो का-

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, कांग्रेस के अध्यक्ष सोनिया गाँधी, राहुल गाँधी तथा पंश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव  ठाकरे झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन तथा द्रमुक अध्य़क्ष एम के स्टालिन ने भी नीट और जेईई मेन्स की परीक्षाओ को लेकर तारीख आगे बढ़ाने की माँग की हैं।

उनका कहना  हैं, कोविड-19 का संक्रमण जिस तरह से तेजी से फैल रहा हैं। उस समय परीक्षाओ का कराया जाना सही नहीं हैं। इससे संक्रमण फैलने का भी खतरा अधिक हैं, तथा छात्रो को एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने के लिए परिवहन सेवा का भी अभाव हो सकता हैं।

जेईई और नीट परीक्षा को टालने के लिए क्या किया जा रहा -

परीक्षाओ को टालने के लिए एक ऑनलाइन याचिका भी शुरू की गयी हैं। रात आठ बजे के बाद से इस पर 1,08114 लोग दस्तखत कर चुके हैं। तथा छात्रो द्वारा विरोध भी किया जा रहा  हैं। इसके लिए प्रदर्शन भी कर रहे हैं।

क्या कहा राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी ने -

राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) ने कहा हैं, कि जेईई तथा नीट की परीक्षाये सितंबर में ही करायी जायेगी। उन्होने ने कहा की इसके लिए परीक्षा केन्द्रो की संख्या बढ़ायी गयी हैं। तथा ये व्यवस्था की गयी हैं, कि एक-एक सीट की गैंपिंग प्रत्येक छात्र के बीच में रहे तथा इसके साथ ही साथ प्रत्येक कमरे में छात्रो के प्रवेश तथा निवास के लिए अलग-अलग व्यवस्था की जायेगी।  

शिक्षा क्षेत्र से जुडी हर बड़ी खबर के लिए हमारी साइट जागरूक हिंदुस्तान से जुड़े। आप हमे हमारे फेसबुक और ट्विटर पेज पर भी फॉलो कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here