विकास दुबे एनकाउंटर में मारे गये अमर दुबे कि नवविवाहिता को अभी भी पुलिस हिरासत में रखना क्या सही हैं

0
2468

विकास दुबे के गाँव बिकरू में 2 जुलाई के दिन हुये। पुलिस और विकास दुबे के साथियों के बीच मुठभेड़ में कानपुर के एसओ समेत 7 पुलिस कर्मी शहीद हो गये थे। उसके बाद पुलिस ने विकास दुबे के साथियों को खोज-खोज कर सबका एक-एक करके एनकाउंटर कर दिया। लोगो की माने तो विकास दुबे ने उज्जैन महाकाल मंदिर में खुद को सरेण्डर कर दिया था। लेकिन पुलिस की माने तो उसे उज्जैन महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया है। विकास दुबे का भी पुलिस द्वारा यूपी के कानपुर स्थित भौती नामक जगह पर एनकाउंटर कर दिया गया। सवाल यह है कि अमर दुबे की नवविवाहिता को अभी भी पुलिस हिरासत में रखना क्या सही हैं?

लेकिन आज भी ये सवाल लोगो के मन में बना हुआ हैं, कहाँ हैं एनकाउंटर में मारे जाने वाले अमर दुबे की नवविहाहिता जिसकी शादी 29 जून को विकास दुबे के घऱ पर ही अमर दुबे के साथ हुयी थी। शादी के तीन दिन बाद ही ये घटना घटी जिसमें कानपुर पुलिस ने अमर दुबे की पत्नि को भी गिरफ्तार कर लिया था।

कैसे हुयी थी अमर दुबे और खुशी की शादी -

अमर दुबे की पत्नी खुशी दुबे के परिजनो ने आरोप लगाया कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि अमर दुबे विकास दुबे के गैंग में शामिल हैं। खुशी दुबे के पिता का कहना हैं कि वो पेंटिग का कार्य करके पाँच बच्चो  का भरण-पोषण करते हैं। अमर दुबे ने गुमराह करके उनकी बेटी खुशी से शादी की । जब उन्हे बता चला अमर-दुबे विकास के साथ कार्य करता हैं।

विकास दुबे एनकाउंटर में मारे गये अमर दुबे कि नवविवाहिता को अभी भी पुलिस हिरासत में रखना क्या सही हैं

vikas dubey Credit JagRuk Hindustan

तो उन्होने शादी के लिए मना कर दिया ये बोलकर कि उनकी इतनी औकात नहीं हैं कि वो अपनी बेटी की शादी अमर दुबे से करा सके। जिसके बाद विकास दुबे ने खुशी की शादी का पूरा खर्च उठाकर उसकी बेटी की शादी अमर दुबे के साथ करा दी। 30 जुलाई वो अमर दुबे के घऱ विदा होकर आयी।

पुलिस पर लगा रहे हैं, खुशी के परिजन आरोप -

खुशी दुबे के घर वालो का कहना हैं,कि पुलिस उनकी बेटी को अभी तक हिरासत में रखे हुए हैं। ये बोलकर की खुशी भी साजिश में शामिल थी। उनके घरवालो का कहना हैं, कि अभी उसे तीन दिन ससुराल गये भी नहीं हुआ था। अभी वो अपने ससुराल वालो को समझ तक नहीं पायी थी। उस पर पुलिस साजिश में शामिल होने का आरोप लगा कर कैसे हिरासत में ले सकती हैं।

हमारे अन्य आर्टिकल पढ़ें: ​UGC New Guidelines​Top News Headlines Today 

क्या कहना हैं पुलिस का इस विषय में -

पुलिस से जब ये सवाल पूछा गया तो पुलिस आईजी ये बोल रहे हैं कि हम खुशी की समीक्षा की जानकारी कर रहे हैं। हमें शक हैं,कि वो भी अमर दुबे के साथ इस साजिश में शामिल थी। अगर साक्ष्य नहीं मिले तो 169 की कार्यवाही की तरत उसे तीन दिन बाद रिहा कर दिया जायेगा।

क्यो उठा रहे लोग खुशी की गिरफ्तारी पर पुलिस पर सवाल -

खुशी दुबे जिसकी शादी 29 जून को अमर दुबे से हुयी। और शादी के तीन दिन बाद ही ये वारदात हुआ। जिस लकड़ी की शादी अभी जोर-जबरदस्ती से हुयी हो। और शादी के तीन दिन भी नहीं हुये हो। जिसने शायद पुरी तरह से अभी अपने ससुराल वालो को समझा भी नहीं था। वो कैसे इस तरह की साजिश में शामिल हो सकती हैं।

विकास दुबे के गैंग के व्यक्तियो को एनकाउंटर में मार दिया गया हैं। और खुशी के पति अमर दुबे का भी एनकाउटंर कर दिया गया है। जबकि इस केस के मुख्य आरोपी विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे को पुलिस रिहा कर चुकी हैं। तो फिर लोगो के मन में ये सवाल उठना जायज हैं, कि अमर दुबे की नवविवाहिता को पुलिस कस्टडी में रखना बेबुनियाद हैं।

सोशल मीडिया पे क्या बोल रही है जनता

अवि लिखते है - "खुशी दुबे को इंसाफ दिलाने के लिए ब्राह्मणों के साथ सभी वर्गों के लोग आगे आये।"

ऐसे ही देश दुनिया तथा मनोरंजन जगत से जुड़ी ताजा खबरो की जानकारी के लिए हमारे साथ आईये और फालो कीजिए हमारे  फेसबुक   पेज को और जुड़े रहिये हमारे जागरूक हिंदुस्तान साइट से।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here