कुशीनगर में बेसिक शिक्षा विभाग के लिए बढ़ने वाला है, और खतरा

0
486
कुशीनगर में बेसिक शिक्षा विभाग शिक्षकों की नौकरी पर बना खतरा
Credit JagRuk Hindustan

कुशीनगर में बेसिक शिक्षा विभाग से जुड़े लोगो की समस्याये कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं। 2010 के बाद ही शिक्षा विभाग में  हुई भर्तियों के बाद से शिक्षकों की नौकरी पर बना खतरा रूकने का नाम ही नहीं ले रहा हैं। हर रोज सरकार द्वारा कोई ना कोई नया फरमान जारी कर दिया जा रहा हैं। आइये हम इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

क्या हैं, पूरा मामला -

सरकार द्वारा शिक्षा विभाग में  आये दिन हो रहे घोटले की खबर मिलती रही हैं। तथा कुछ छात्रों द्वारा इसके  खिलाफ सुप्रीम कोर्ट तथा हाईकोर्ट में याचिका तक दायर की जा चुकी हैं। इसी को मद्दे नजर रखते हुए सरकार ने फिर से तैनात शिक्षकों के दस्तावेज की जांच को लेकर बेसिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजा हैं। जिसमें शिक्षकों के प्रमाण पत्रों की जांच के निर्देश जारी किये गये हैं। जिसके लिए जिला स्तर पर एक कमेटी भी बनायी जा चुकी हैं। ये कमेटी शिक्षकों के दस्तावेजों की जाँच तथा उनके बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए बनाये गये हैं।

​कुशीनगर में कुल कितने शिक्षक ऐसे हैं जिनकी होगी जाँच -

आपकों बता दे कि ​कुशीनगर में बेसिक शिक्षा विभाग में कुल 6564 शिक्षक तैनात हैं। जिसमें से 4764 शिक्षक प्रथामिक विद्यालय तथा 1800 शिक्षक  पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में हैं। खबरों की माने तो इनमें से कुल 4 हजार से ज्यादा शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच की जा सकती हैं।

क्या कहना हैं, इस पर अधिकारियों -

​अधिकारियों ने बताया कि 2010 के बाद तैनात शिक्षकों की जांच के आदेश प्रदेश सरकार द्वारा दिये जा चुके हैं। उनका कहना हैं, कि जांच के आदेश जारी किये जा चुके हैं तथा जो टीम इसकी जांच के लिए बनायी गयी हैं। वो अपने कामों में लग गयी हैं।  तथा कुछ शिक्षकों के दस्तावेज फर्जी निकलने की बात भी सामने आयी हैं। अधिकारियों का कहना है, कि उनकी जांच पड़ताल की जा रही हैं। अगर उनके ऊपर लगे आरोप सिद्ध हो जायेगे। तो उनपर उचित कार्यवाही की जायेगी।

कितने शिक्षकों के दस्तावेज फर्जी होने की बात समाने आयी हैं -

कुशीनगर में प्रदेश सरकार द्वारा 2010 के बाद हुई भर्तियों में जाँच के आदेश मिलने के बाद जाँच कमेटी अपने कार्य में सलग्न हो गयी हैं। उनके द्वारा किये गये  जाँच में अभी 5 शिक्षकों के दस्तावेज की बात फर्जी होने की बात सामने आयी हैं। बताया जा रहा हैं, उसी नाम व पते के शिक्षक दूसरे जिले में भी तैनात हैं। इन शिक्षकों के पैन कार्ड व आधार कार्ड भी एक ही जैसे पाये गये हैं। जब इस बात की खबर विभाग को मिली तो उन्होंने उन शिक्षकों के खिलाफ नोटिश जारी कर दिया हैं। लेकिन उनमें से केवल तीन ही शिक्षक नोटिश जारी करने के बाद उपस्थित हुए हैं। बाकि दो शिक्षकों का कोई पता नहीं हैं। उनके खिलाफ जांच चल रही हैं। जल्द ही वो भी सामने  आयेगे।

ये तो आने वाला समय ही बतायेगा कि कुशीनगर बेसिक शिक्षा विभाग में तैनात कुल शिक्षकों में से कितने शिक्षकों की नौकरी जाने वाली हैं। लेकिन अभी तो खतरा सबपर मडरा रहा हैं।

ऐसे ही देश दुनिया तथा मनोरंजन जगत से जुड़ी ताजा खबरो की जानकारी के लिए हमारे साथ आईये और फालो कीजिए हमारे  फेसबुक   पेज को और जुड़े रहिये हमारे जागरूक हिंदुस्तान साइट से। हमारे ट्विटर अकाउंट को फॉलो करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here