सरकार द्वारा किये गये जीएसटी में बड़े बदलाव इस तबके के लोगो को मिल सकता हैं फायदा

0
309
जीएसटी में बड़े बदलाव
Credit JagRuk Hindustan

कोरोना महामारी के चलते लोगो की जेब पर काफी असर पड़ा हैं। कोरोना की वजह से लोगो को नौकरियोँ तथा कारोबार आदि में संकट का सामना करना पड़ रहा हैं। लेकिन केन्द्र सरकार द्वारा जीएसटी को लेकर कारोबारियों के लिए राहत का कार्य किया गया हैं। इसलिए सरकार द्वारा जीएसटी में बड़े बदलाव किये है।

विस्तार -

कोरोना के चलते लोगो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं। जिसको देखते हुए सरकार द्वारा कई फैसले लिए जा चुके हैं। ताकि लोगो को ज्यादा दिक्कत ना हो क्योकि कोरोना काल में कई लोगो की नौकरियाँ छीन गयी हैं। तो लॉकडाउन लगने की वजह से कारोबारियों का बहुत ही ज्यादा नुकसान हुआ हैं। अभी हालहि में सरकार द्वारा 1 सिंतबर से एलपीजी, ईएमआई और भी बहुत चीजो में बदलाव किया गया  हैं। अब केन्द्र सरकार द्वारा जीएसटी रिर्टन दाखिल करने के लिए कारोबारियों को राहत देने का कार्य किया गया हैं। केन्द्र सरकार ने जीएसटी रिर्टन भरने की तारीख को आगे बढ़ा दिया हैं। ताकि जिन कारोबारियो का नुकसान हुआ हैं, उन्हे समय मिल सके। आईये जानते हैं सरकार द्वारा क्या जीएसटी में बड़े बदलाव किये गये हैं।

जीएसटी भरने की तारीख में बदलाव -

केन्द्र सरकार द्वारा कारोबारियों को राहत देने का कार्य किया गया हैं। उनके जीएसटी भरने की तारीख को आगे बढ़ा दिया गया हैं। अभी तक सरकार द्वारा जीएसटी रिर्टन दाखिल करने के समयसीमा दो बार बढ़ायी जा चुकी हैं। पहले इसका रिर्टन भरने की तारीख 15 जुलाई थी तथा बाद में इसकी समयसीमा बढ़ा कर 31 अगस्त कर दिया गया था। अब जीएसटी रिर्टन दाखिल करने की समय सीमा को दो महीने और बढ़ा दिया गया हैं।

आपको बता दे कि इसकी जानकारी केन्द्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) द्वारा ट्वीट के जरिये दिया गया हैं। सीबीआईसी ने अपने ट्वीट में बताया कि अब कारोबारियों द्वारा वित्त वर्ष 2019-2020 का जीएसटीआर भरने की समयसीम 31 अक्टूबर 2020 कर दी गयी हैं।

किन कारोबारियों को इसका लाभ मिलेगा -

जबसे कोरोना आया हैं, सरकार द्वारा हर महीने कोई ना कोई बदलाव किया जा रहा हैं। जीएसटीआर भरने की समय सीमा भी सरकार द्वीरा अभी तक दो बार बढ़ायी जा चुकी हैं। सरकार द्वारा कंपोजीशन स्कीम के तहत आने वाले डीलरो को राहत देने का कार्य किया गया हैं। तथा जीएसटी रिर्टन दाखिल करने की समय सीमा बढ़ा कर 31 अक्टूबर कर दी गयी हैं।

कौन से व्यापारी कम्पोजीशन स्कीम के तहत आते हैं -

सरकार द्वारा जीएटीआर भरने की समय सीमा की तारीख को आगे बढ़ा दिया गया हैं, तथा इसका फायदा वही कारोबारी उठा पायेगे जिनका टैक्सपेयर सालाना कोरोबार डेढ़ करोड़ रूपये तक हैं। इस स्कीम के अन्तर्गत आने वाले मैन्यूफैक्चरर्स और व्यापारियों को एक फीसदी की दर से जीएसटी का देना पड़ता हैं। और वहीं एल्कोहल नहीं परोसने वाले रेस्तंरो व्यापारियो को पाँच फीसदी की दर से जीएसटी का भुगतान करना होता हैं।

देश दुनिया की हर खबर जाने हमारी साइट जागरूक हिंदुस्तान से जुड़े और इस तरह की महत्वपूर्ण खबरों से अपडेटेड रहे। आप हमे फेसबुक  ट्विटर पर फॉलो कर हमारे नए आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन्स पा सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here