जानिए क्यों उद्धव ठाकरे मुस्लिमो को आरक्षण देने पर तुले है?

0
303
Pic credit Twitter profile
Pic credit Twitter profile
महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार स्कूल-कॉलेजों में मुस्लिम आरक्षण के लिए कानून लाएगी। ५ % आरक्षण दिया जाएगा मुस्लिम वर्ग को , हालांकि की इसका विरोध भी शुरू हो गया है

राज्य के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री, मालिक नबाब ने इस बात की पुष्टि की है , कहा जा रहा है उद्धव के ऊपर कोंग्रेस का दबाब है । 

आइये जानते है क्या है मामला ?

महाराष्ट्र अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री ने बताया की , राज्य की महा विकास अघाड़ी सरकार ने सरकारी संस्थानों में मुस्लिमों को पांच फीसदी आरक्षण देने का प्रस्ताव रखा है. उन्होंने सदन को बताया की जुलाई से पहले इस बिल को पास करदिया जाएगा और इस विषय पे उचित कदम उठाया जाएगा ।

विरोध में आई बीजेपी -

जहा सरकार के इस फैसले पर मुस्लिम वर्ग उद्धव का सपोर्ट करते नजर आ रहे है वही बीजेपी के नेताओ इसका विरोध करना स्टार्ट करदिया है।
 
राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देंवेंद्र फडणवीस ने कहा, संविधान में धर्म के आधार पर आरक्षण का प्रावधान नहीं है। शिवसेना स्पष्ट करे कि क्या वह संविधान के खिलाफ जाकर इसे मंजूरी देगी।

शिव शेना आई अपने बचाव में -

वही दूसरी तरफ महाराष्ट्र सरकार का कहना है कि हाईकोर्ट ने सरकारी शैक्षणिक संस्थानों में मुस्लिम समुदाय को पांच फीसदी आरक्षण को हरी झंडी दी थी. लेकिन बीजेपी ने ये होने नहीं दिया , इसलिए हमने हाईकोर्ट के आदेश को कानून के रूप में अमल करने का ऐलान किया है.

क्या कांग्रेस चल रही है शिव शेना को फ़साने की चाल ?

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा, मुस्लिम आरक्षण का कार्ड खेलकर कांग्रेस और एनसीपी शिवसेना को फंसा रहे हैं। शिव शेना पहले से हिंदूवादी छवि की पार्टी रही है और इसे कांग्रेस तोडना चाहती है । हालाँकि उन्होंने ये भी कहा की उन्हें आरक्षण देने से कोई आपत्ति नहीं है ।

शिव शेना के भी बदले शुर --

शिव शेना पहले हिंदूवादी पार्टी थी , लेकिन चुनाव में जित और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने के बाद , उसके भी बदले हुए शुर नजर आ रहे है, कभी हिंदुत्व कजी बात करने वाली बाला साहेब की पार्टी आज मुस्लिमो के लिए आरक्षण की प्रावधान करेगी ऐसा किसने सोचा था । लेकिन ये राजनीती है , यहां लोग कुर्शी के लिए हर रोज अपना रंग बदलते है । यहां कुर्शी भी तो मुख्यमंत्री की है ।

अब देखना ये दिलचस्प होगा शिव शेना मुस्लिम आरक्षण पे क्या करती है , क्या वो कांग्रेस के साथ के लिए मुस्लिमो को आरक्षण देगी ? या हिंदुत्व पे रहेगी ।

क्या आरक्षण धर्म देख कर देनी चाहिए ?

अगर आप भारत में गरीबी देखे तो आपको हर गली में हर सड़क पे, देश के कोने कोने में गरीब देखने मिलेगा । अबतकतो जाती देख कर आरक्षण देख दिया जाता रहा है, लेकिन अब धर्म देख कर भी आरक्षण दिया जाएगा । क्या आरक्षण से कभी किसी गरीब को फायदा हुआ है ?
सबका जबाब ना होगा । सरकार आरक्षण तो देती है लेकिन उसका फायदा कोई और उठा ले जाता है ।

देश के हर गरीब को आगे बढ़ने के लिए आरक्षण मिलना चाहिए , चाहे वो ब्राह्मण हो या दलित हो या मुस्लिम हो । धर्म की राजनीती करके हम देश को और पीछे कर रहे है , ना की आगे ले जा रहे ।

आरक्षण अब अमर है

वैसे ये आरक्षण मरता ही नहीं, आरक्षण १० साल के लिए था । लेकिन अब ये वोट बैंक का बहुत बड़ा हथियार बन चूका है । आरक्षण अब कभी नहीं मरेगा, ये अब अजर अमर बन चूका है । - अमन मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here