सिंतबर से बदलने वाले हैं, LPG गैस और EMI सम्बन्धित बहुत से नियम

0
244
LPG EMI सम्बंधित नियम
Credit JagRuk Hindustan

कोरोना की वजह से हर महीने के शुरूआत में अनलॉक और लॉकडाउन से सम्बन्धित नियम बदलते रहते हैं, लेकिन कोरोना की वजह से अब महीने फाइनेंशियल चीजो में बदलाव आता हैं। जिसका असर आपकी रोजमर्रा की जिंदगी पर पड़ता हैं, ऐसे ही सिंतबर माह की शुरूआत में बदल जायेगे जिसका असर आपकी जेब पर पड़ सकता हैं। चलिए हम आपको बताते हैं, वो कौन से नियम हैं, जो सिंतबर से बदलने वाले हैं। LPG और EMI सम्बंधित नियम बदले।

  1. EMI के नियमों में बदलाव
  2. LPG  गैस की कीमतो में बदलाव
  3. शेयर मार्केट में मार्जिन संबधी नियमों में बदलाव
  4. हवाई यात्रा की कीमतो में बदलाव
  5. मेट्रो ट्रेन को लेकर बदलाव

LPG सिंलेडर की कीमतो में बदलाव-

रसोई गैंस जिसका सम्बन्ध हमारी रोजमर्रा जिंदगी से हैं। अक्सर ही एलपीजी गैस की कीमतो में बदलाव देखने को मिलता हैं। कभी-कभी कीमते अचानक से बढ़ जाती  हैं। तो कभी-कभी कीमते घट जाती हैं। लेकिन जबसे कोरोना आया हैं, सरकार द्वारा हर महीने एलपीजी गैस के कीमतो में बदलाव होते हुए देखा गया है। इस बार 1 सिंतबर से एलपीजी गैस के दामो को कम करके लोगो की समस्याओ को कम करने की कोशिश की जा रही हैं।

मेट्रो ट्रेन को लेकर बदलाव -

मेट्रो ट्रेने जहाँ कोरोना की वजह से चलनी बंद हो गयी  थी। जिसकी वजह से आम जन-मानस को काफी सम्स्याओं का सामना करना पड़ रहा था। लेकिन सरकार ने अब ये फैसला लिया हैं, कि मेट्रो ट्रेनो को शुरू कर दिया जायेगा। जिसकी वजह से ट्रांसपोर्ट में भी पैसा बच सकता हैं।

EMI के नियमो में बदलाव -

कोरोना के चलते आरबीआई ने ईएमआई सम्बन्धी नियमों में बदलाव किया था। तथा ईएमआई भरने में राहत देते हुए ईएमआई भरने की समयसीमा बढ़ाकर 31 अगस्त कर दी थी। जो कि अब खत्म होने वाली हैं। अब आपको अपनी ईएमआई भरना पड़ेगा।

लेकिन जिन लोगो का बैंक कस्टमर्स के पास ऑप्शन रहेगा कि वो अपने लोन की रिस्ट्रक्चरिंग करा सकते हैं। इसलिए यह व्यवस्था कि गई हैं, कि कोरोना की वजह से जो लोग समयसीमा पर ईएमआई नहीं भर पा रहे हैं। वो अपनी परिस्थिति के अनुसार समयसीमा के बगैर अपने लोन की किस्त को रीस्ट्रक्चर कर सकते हैं।

शेयर मार्केट में मार्जिन सम्बन्धी नियमों में बदलाव -

शेयर बाजार में निवेश करने वाले लोगो के लिए भी नियम 1 सिंतबर से बदल रहे हैं। बता दे कि अब इन्वेस्टर ब्रोकर की तरफ से मिलने वाले मार्जिन का फायदा नहीं उठा पायेगे।  अब निवेशक जितना पैसा अपफ्रंट मार्जिन के तौर पर ब्रोकर को देगे। उतने ही पैसे का शेयर खरीद सकते हैं। LPG और EMI सम्बंधित नियम बदले।

हवाई यात्रो सम्बन्धी नियमों में बदलाव -

कोरोना वायरस के चलते एयरलाइंस कम्पनियों को काफी नुकसान का सामना करना पड़ा हैं। जिसकी वजह से एयरलाइंन्स कम्पनियाँ अपने टीकट के दामों में बढ़ोत्तरी कर सकती हैं। तथा नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने भी 1 सिंतबर से घरेलू और अर्न्तराष्ट्रीय यात्रियों से उच्च विमान सीमा शुल्क यानि ASF लेने का फैसला किया हैं। तथा डोमेस्टिक यात्रियों से अबसे 150 रूपये की जगह 160 रूपये तथा अंतराष्ट्रीय यात्रियों से 4.85 डॉलर की जगह 5.2 डॉलर लिया जायेगा। इंटरनेशनल हवाई यात्रा कने पर अब 40 रूपये ज्यादा देना पड़ेगा।

ऐसी ही हर बड़ी खबर जानने के लिए हमारी साइट जागरूक हिन्दुस्तान के साथ जुड़िये, आप हमारे फेसबुक तथा ट्वीटर पेज को फालो कर हमारे नये ऑर्टिकल के बारे में जान सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here