Pegasus Spyware के जरिये पत्रकारो की जासूसी पर मचा संसद में हंगामा

0
Mansoon Session me hungama
Credit JagRuk Hindustan

Pegasus Spyware के जरिये जासूसी का मुद्दा आज संसद के मानसून सत्र में दोनो सदनो में उठा और इसको लेकर संसद में खूब हंगामा भी हुआ, सूचना प्रौद्योगिकि मंत्री अश्वनी वैष्णव ने लोकसभा में कहा कि संसद सत्र शुरूआत होने से एक दिन पहले ही ये रिपोर्ट आना संयोग नहीं हैं।

Pegasus Spyware क्या हैं, पूरा मामला-

इजरायली Pegasus Spyware  से भारतीय पत्रकारो की जासूसी की जा रही हैं। इस मुद्दे को अश्विन वैष्णव जो प्रौद्योगिकी सूचना मंत्री हैं उन्होने कहा फॉरेंसिक टेस्ट में पेगासस से जासूसी की बात की पुष्टि हुई हैं। जिसके बाद संसद में इस मुद्दे को लेकर हंगामा होने लगा। आरोप लगा था की भारत के 40 पत्रकारो की जासूसी इजराइल Pegasus Spyware द्वारा की जा रहा हैं।

क्या कहा अश्वनी वैष्णव ने-

आज संसद के मानसूनी सत्र में सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्वनी वैष्णव ने कहा हैं, कि इजराइल Pegasus Spyware द्वारा भारतीय पत्रकारो की जासूसी की जा रही हैं। 2017-2019 के बीच में 300 लोगो की फोन टैंपिग किये जा चुके हैं। जिसमें कई बड़े मीडिया संस्थानो को निशाना बनाया गया हैं

अलग-अलग संस्थानो के 40 पत्रकारो के फोन टैप  किये जा चुके है जिसमें The WIRE, The Hindu and Hindustan Times के पत्रकारो के साथ-साथ मंत्री, विपक्षी नेता व कारोबारियो को भी निशाना बनाया गया हैं।

इस आरोप का कोई पुख्ता आधार नहीं हैं ये तथ्यहीन कहानी हैं। ये निजता के अधिकार के लिए प्रतिबद्ध है। भारत में पर्सनल डेटा प्रोटेक्शन को लेकर कानून हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा के मसले पर ही फोन टैंपिग व इंटरसेप्शन के लिए सख्त सरकारी प्रोटोकॉल हैं।

UP News;ऐसी ही खबरे और देश व विदेश से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे साइट जागरूक हिन्दुस्तान से जुड़े तथा हमारे फेसबुक और ट्वीटर अंकाउड को फालो करके हमारे नये आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here