काग्रेस ने राजस्थान में 300 साल पुराने शिव मंदिर को तोड़ हिंदुओं की आस्था को पहुँचाया ठेस

Date:

Rajasthan News | काग्रेंस लगातार बीजेपी सरकार को बुल्डोजर द्वारा अतिक्रमण हटाने पर घेर रही हैं, और आरोप लगा रही हैं, कि बीजेपी एक समुदाय के लोगो पर निशाना साध रही हैं। वही जहाँ जहाँगीरपुरी में अतिक्रमण हटाने गयी नगर निमग की टीम ने मस्जिद पर बुल्डोजर चला दिया तो काग्रेंस सहित सभी विपक्ष के दलो ने बीजेपी पर तंज कसना शुरू कर दिया वही खुद काग्रेस जब यही कार्य कर रही हैं, तो गलत नहीं हैं। 

Rajashthan News-

राजस्थान के अलवर में हिंदुओ के आस्था का प्रतीक 300 साल पुराने शिव मंदिर को काग्रेंस सरकार द्वारा तोड़ दिये जाने पर बीजेपी के राजस्थान प्रभारी अमित मालवीय ने कहा हैं कि खुद को धर्मनिरपेक्ष बताने वाली कांग्रेस ने राजस्थान राज्य में विकास के नाम पर 300 साल पुराने शिव मंदिर को तोड़ दिया जो हिन्दुओं कि आस्था का प्रतीक था। 

 बीजेपी के राष्ट्रीय सूना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के प्रभारी ने ट्वीट करके इस बात दी जानकारी दी और लिखा कि-विकास के नाम पर राजस्थान के अलवर में 300 साल पुराना शिव मंदिर तोड़ दिया गया। करौली व जहांगीरपुरी पर आंसू बहाना और हिंदुओं की आस्था को ठेस पहुचांना काग्रेंस की धर्मनिरपेक्षता हैं। 

जिसके बाद काग्रेंस के विधायक का एक वीडियो सामने आया हैं। जिसमें जौहरी लाल मीणा ये कहते हुए नजर आ रहे हैं, कि काग्रेंस का बोर्ड होता तो बुल्डोजर नहीं चलता । लोगो द्वारा इस बयान को मंदिर तोड़े जाने से जोड़ा जा रहा हैं।
क्योकि राजगढ़ में बीजेपी का बोर्ड लगा हुआ हैं।

इसके बाद मालवीय ने लिखा कि- 18 अप्रैल को प्रशासन ने बिना नोटिस दिये ही 85 हिंदुओं की संपत्ति पर बुल्डोजर चला दिया। क्या वो चुनिंदा आँसू ही बहा रहे हैं। क्या हिंदुओं की आस्था को ठेस पहुचाना कांग्रेस की धर्मनिरपेक्षिता को दर्शता हैं।

देश-विदेश से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे साइट जागरूक हिन्दुस्तान से जुड़े तथा हमारे फेसबुक और ट्वीटर अंकाउड को फालो करके हमारे नये आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाये। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related