Remdesivir Injection क्या हैं और किस काम आती हैं ये दवा पढ़े पूरी जानकारी

0
0
Use of Remdesivir Injection
Credit JagRuk Hindustan

Remdesivir Injection क्या हैं क्यो इस दवा को लेकर कोरोना जैसी महामारी के बीच मरामारी देखने को मिल रही हैं, क्यो जिसको देखो वही Remdesivir Injection की माँग सोशल मीडिया पर करता हुआ नजर आता हैं और इस दवा का उपयोग किस रोग में किया जाता हैं। क्या ये दवा वाकई कोरोना जैसी महामारी में उपयोगी हैं कितनी कारगार हैं ये दवा

क्या हैं Remdesivir Injection-

Remdesivir Injection को कोरोना की बीमारी में काफी माँग की जा रही हैं, जहाँ देखे वही आपको इस दवा की माँग करते हुए लोग दिख जायेगे। मेडिकल स्टोर से लेकर हॉस्पिटलस् में भी इस दवा की माँग की जा रही हैं। चलिये हम आपको इसके बारे में बताते हैं।

Remdesivir Injection एक एंटीवायरल दवा हैं. जिसके अमेरिका की एक दवा कंपनी जिसका नाम गिलियड साइंसेज हैं उन्होने बनाया हैं। इस दवा का प्रयोग लगभग एक दशक पहले किया जाता था। हेपेटाइटिस सी व साँस संबधी वायरस में किये जाे के लिए किया गया था। लेकिन इसका कभी प्रयोग करने के लिए बाजार में इसको नहीं लाया गया। लेकिन कोरोना जैसी महामारी को मद्देनजर रखते  हुए Remdesivir Injection को लोग संजिवनी के रूप देख रहे हैं।

गिलियड साइंसेज कंपनी द्वारा Remdesivir दवा को इबोला ड्रग के रूप में बनाया गया था। लेकिन कोरोना काल में ये माना जाने लगा हैं कि ये दवा किसी भी प्रकार के वायरस को मार सकती हैं।   

भारत में Remdesivir का प्रोडक्शन करने वाली कंपनी-

जबसे कोरोना काल में इस दवा का नाम आया तबसे बाजार में इसकी काफी बिक्रि हो रही हैं। जिसके चलते कई लोग इस महामारी के समय में इस दवा की भी कालाबाजारी कर रहे हैं जो कि मानवता को शर्मसार करने वाला हैं। भारत में इस दवा का प्रोडक्शन हेटेरो, जाइडस कैडिला, जुबिलैंट लाइफ, डॉ रेड्डीज, सन फार्मा व माइलेौन जैसी कम्पनिया करती हैं।

Remdesivir Injection कितनी कारगर हैं कोरोना पर-

Remdesivir Injection की माँग इस समय लोगो द्वारा इस प्रकार किया जाता हैं, जैसे ये संजीवनी हैं,लेकिन Remdesivir दवा का प्रयोग केवल कोरोना बीमारी में काफी Critical Condition में ही मरीजो पर किये जाने को  कहा गया था। लेकिन नवंबर मेंं WHO ने भी इस दवा को कोरोना का सटीक इलाज मानने के लिए मना कर दिया तथा किसी भी विशेषज्ञो द्वारा इस दवा को मान्यता नहीं दी गयी हैं।

कई देशो ने तो  इसका इस्तेमाल करना ही बंद कर दिया हैं। तथा विशेषज्ञ भी इस दवा के इस्तेमाल करने को मना करते हैं। लेकिन इसके बाद भी लोगो द्वारा लगातार इसकी माँग की जा रही हैं और इसका प्रयोग किया जा रहा हैं।

ऐसी ही खबरे और देश व विदेश से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे साइट जागरूक हिन्दुस्तान से जुड़े तथा हमारे फेसबुक और ट्वीटर अंकाउड को फालो करके हमारे नये आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here