Shardiya Navratri Date 2022; जानिये कब से शुरू हो रहा हैं, शारदीय नवरात्रि 2022 में व किस दिन होगा समाप्त, पूर्ण जानकारी

Date:

Shardiya Navratri 2022/ Shardiya Navratri 2022 Date/ हर साल की तरह इस साल भी माँ अपने भक्तो के घर शरद नवरात्रि के समय नौ दिनो तक रहेगी। हिंदू सभ्यता में शारदीय नवरात्रि का विशेष महत्व हैं। नो दिनो तक भक्त धूम-धाम से माँ की पूजा अर्चना करते हैं व आखिरी दिन हवन आदि के बाद विसर्जन, जानिये शारदीय नवरात्रि 2022 में कब हैं। 

Shardiya Navratri 2022 Date and Time-

Navratri 2022; इस बार शारदीय नवरात्रि (Shardiya Navratri Kab Hain) 26 सिंतबर 2022 दिन सोमवार से शुरू होगा और 5 अक्टूबर 2022 दिन बुधवार तक रहेगा।

  1. नवरात्रि  प्रथम दिन- 26 सितंबर 2022
  2. नवरात्रि द्वितीय दिन- 27 सिंतबर 2022
  3. नवरात्रि तृतीय दिन- 28 सिंतबर 2022
  4. नवरात्रि चतुर्थ दिन- 29 सिंतबर 2022
  5. नवरात्रि पंचमी- 30 सिंतबर 2022
  6. नवरात्रि षष्ठ दिन- 1 अक्टूबर 2022
  7. नवरात्रि सप्तमी- 2 अक्टूबर 2022

नवरात्रि अष्टमी कब हैं (Navratri Astami Kab hai)-

नवरात्रि महा अष्टमी पूजा 2022 में 3 अक्टूबर दिन सोमवार को हैं।  

नवमी कब हैं (Navami Kab hai)-

महा नवमी शरद नवरात्रि 2022 में 4 अक्टूबर दिन मंगलवार को पड़ रहा हैं। 

दशमी कब हैं (Navratri Dashami kab hai)-

शरद नवरात्रि दशमी 2022; इस बार दशमी व दुर्गा विसर्जन 5 अक्टूबर 2022 को पड़ रहा हैं। 


Navratri Kalash Sthapna Subh Muhurt (नवरात्रि कलश स्थापना शुभ मुहुर्त)-

नवरात्रि 2022 में कलश स्थापना 26 सिंतबर दिन सोमवार को होगा। 

dussehra 2022 Kab hai (दशहरा कब हैं)-

दशहरा 2022 (dussehra 2022) में 5 अक्टूबर दिन बुधवार को मनाया जाएगा। 

Navratri Puja vidhi-

नवरात्रि पूजा विधि (Navratri Shubh Muhurat, Timings, Samagri List, Mantra in Hindi);

  • नवरात्रि के दिन सबसे पहले स्नानादि करके गंगाजल छिड़के।
  • इसके बाद माँ दुर्गा की प्रतिमा को नये वस्त्र आदि पहनाये। 
  • कलश स्थापना करे व माँ की अखंड ज्योत जलाए। 
  • और एक-एक करके माँ के सभी रूपो का ध्यान व पूजन करे। 
  • तथा कलश, अखण्ड ज्योति व भगवान गणेश, माता गौरी व नवग्रह आदि की पूजा करे। 
  • माँ को रोली लगाये व लाल रंग का फूल अर्पित करे। 
  • इसके बाद माँ दुर्गा का चालीसा या दुर्गा सप्तशती व अन्य मंत्रो का जप करे।
  • माँ को प्रसाद चढ़ाये। 
  • इसके बाद आरती करके पूरे घर में दिखाये। 
  • नवरात्रि के आखिरी दिन हवन आदि करे।

नवरात्रि पूजा की सामग्री (Navratri Puja Ki Samgree)-

 मिट्टी का कटोरा, जौ, साफ मिट्टी, कलश,, धूप, दीप, माला (तस्वीर पर चढ़ाने के लिए), लाल चुन्नी, गंगाजल  रक्षा सूत्र, लौंग, इलाइची, रोली, कपूर, आम के पत्ते, पान के पत्ते , साबूत सुपारी, अक्षत, नारियल, फूल, फल आदि 

कलश स्थापना मंत्र- 

कलश स्थापना 2022 मंत्र- नवरात्रि के दिन स्नानादि करके हाथ में हल्दी, अक्षत, पुष्प को लेकर इच्छित संकल्प लें। बाद में 'ॐ दीपो ज्योतिः परब्रह्म दीपो ज्योतिर्र जनार्दनः! दीपो हरतु मे पापं पूजा दीप नमोस्तु ते पढ़ें। कलश पूजन करने के बाद नवार्ण मंत्र 'ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुंडायै विच्चे पढ़ें।

Navratri, Dashahra Kab hai, Happy Navratri, Navrat Kab hain, Navratri 2022 Bhog, Navratri 2022 Subh Muhurat, Navratri Date 2022, Navratri Puja vidhi Navratri Kalash Sthapana Time, Shardiya Navratri, Shardiya Navratri 2022, Shardiya Navratri Date, Shardiya Navratri Date 2022, Shardiya Navratri Date and Time, Shardiya Navratri Kab hai, Shardiya Navratri Puja vidhi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related