Sidhu Moose Wala ने खालिस्तान पर बनाया था गाना, विवादों से भरा था इनका जीवन, जानिये क्या हैं इनके मौत की वजह

Date:

Sidhu Moose Wala |Sidhu Moose Wala Song | Sidhu Moose Wala Death|की मौत की खबर जबसे उनके चाहने वालो को पता चली हैं, तबसे उनको इस घटना पर विश्वास नहीं हो रहा हैं, कि इतनी कम उम्र में इतना बेहतरीन टैलेंट किसी की नफरत का शिकार बन गया। 

Sidhu Moose Wala के मौत की वजह-

कल पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला जिनकी उम्र महज 28 साल की थी। गोली मारकर मनसा में स्थित जवाहर गाँव में हत्या कर दी गयी। उनके साथ दो और लोगो को गोली मारी गयी हैं। सिधू मूसेवाला को पहले ही गैंगस्टर्स से धमकियां मिली थी। और एक दिन पहले ही पंजाब सरकार ने उनकी सेक्योरिटी हटाई थी। 

Sidhu Moose Wala Biography-

सिद्धू मूसेवाला का जन्म 11 जून 1993 को पंजाब के मानसा जिले के मूसा गांव में एक पंजाबी परिवार में हुआ था। इनका वास्तविक नाम शुभदीप सिंह सिधू था। इनकी मां सरपंच थी। बताया जाता हैं कि मूसेवाला को बंदूको का बहुत शौक था। 

इसलिए उनके गानो में ज्यादातर आप इनको बंदूको को लहराते हुए देखेगे। एक बार कोरोना के समय फायरिंग रेंज पर सिद्धू मूसेवाला को एके-47 बंदूक के साथ फायरिंग करते हुए उनका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।

सिंधू मूसेवाला ने कबसे गाना शुरू किया-

सिद्धू मूसेवाला ने अपने कॉलेज के दिनो से ही अपने गाना शूट करना शुरू कर दिया। उनके गाने व रैप के अंदाज को फैंस काफी पंसद करते थे। इनका करियर जी वैगन गाने से शुरू हुआ था। इन्होने ब्राउन बॉयज ग्रुप के लिए बहुत गाने गाये थे। इनको ज्यादा प्रसिद्धि इनके गाने सो हाई से मिली थी।

 2018 में उन्होंने अपनी एल्बम PBX 1 रिलीज हुई थी। इस एल्बम को बिलबोर्ड कैनेडियन एलबम्स के चार्ट पर 66वां स्थान मिला था। इसके बाद उन्होंने अपने इंडिपेंडेंट गाने रिलीज करना शुरू कर दिया।  

इनका नाम कई विवादों से जुड़ा था।भी सिद्धू मूसे वाला ने किया. उनके गानों के लिरिक्स में बंदूकों की बातें होती थीं। इसके लिए उनपर गन कल्चर को बढ़ावा देने का इल्जाम लगा था। जिसके लिए इनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराया गया था। इनकी दुश्मनी पंजाबी रैपर करण अहूजा

खालिस्तान पर गाया था गाना-

माय मदरलैंड के नाम से एक गाना रिलीज किया था। जिसको लेकर इनपर आरोप था कि उन्होंने खालिस्तान को ग्लोरिफाय किया है। उन्होने इस गाने में सिद्धू ने खालिस्तान के सपोर्टर भरपूर सिंह बलबीर की 1980 की स्पीच को भी दिखाया था।

काग्रेंस के थे लीडर-

सिद्धू मूसेवाला ने दिसंबर 2021 में कांग्रेस पार्टी का हाथ थामा था। राहुल गांधी से मुलाकात भी की थी। जिसकी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी चर्चा का विषय बनी थी। 

कैसे हुई सिद्धू मूसेवाला की मौत-

सिद्धू मूसेवाला के कत्ल के लिए AN 94 Russian Assault Rifle का इस्तेमाल हुआ था। पंजाब के गैंगवार में एके-94 का इस्तेमाल पहली बार देखने को मिला है। इसमे कुल 8 से 10 हमलावर शामिल थे। पुलिस ने बताया कि इनकी आपसी रंजिश की वजह से हुई हैं। इस केस की जाँच के लिए पंजाब सरकार ने एसआईटी का गठन किया हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related