TATA Air India; रतन टाटा बने एयर इंडिया के नये मालिक हुई 18 हजार करोड़ की डील

Date:

TATA Air India; टाटा संस ने बहुत लम्बे समय के बाद एक बार फिर से सरकारी एयरलाइ एयर इंडिया को किया अपना ये डील 18 हजार करोड़ में हुई पूरी टाटा के तरफ से कहा गया कि दिसंबर 2021 तक हो सकती हैं लेनदेन पूरी  

Air India-

एयर इंडिया के लिए टाटा समूह ने करीब 18 हजार करोड़ रुपए तक की बोली लगाई थी। मीडिया को संबोधित करते हुए डिपार्टमेंट ऑफ इनवेस्टमेंट एंड पब्लिक एसेट मैनेजमेंट (DIPAM) के सचिव तुहिन कांत पांडे ने कहा कि टाटा संस की टैलेस प्राइवेट लिमिटेड ने 18,000 करोड़ रुपये की बोली लगाई हैं और डील पूरी हो गयी हैं। 

उन्होने कहा कि ये इस डील की लेनदेन इस साल के अंत में यानि दिसंबर तक पूरे होने के आसार हैं। 

TATA को क्या-क्या मिल सकता  हैं-

सरकार के द्वारा कि गयी शर्तों के अनुसार जो कम्पनी इस बोली को लगाने में सफल रहेगी उसको एयर इंडिया की सब्सिडरी एयर इंडिया एक्सप्रेस का भी शत प्रतिशत नियंत्रण मिलेगा। वहीं, एआईएसएटीएस में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी पर कब्जा भी होगा।

एआईएसएटीएस प्रमुख भारतीय हवाईअड्डों पर कार्गो और जमीनी स्तर की सेवाओं को उपलब्ध कराती है। विनिवेश के नियमों के मुताबिक टाटा को Air India के घरेलू हवाई अड्डों पर 4,400 घरेलू और 1,800 अंतरराष्ट्रीय उड़ान के लैंडिंग की मंजूरी मिलेगी। और वही पार्किंग आवंटनों का नियंत्रण भी दिया जाएगा। 

70 सालो के बाद TATA की Air India-

 सरकारी विमान कंपनी एयरइंडिया 70 सालो के बाद अपने पुराने मालिक टाटा समूह के पास फिर से वापस आयी हैं। दरअसल, जहांगीर रतनजी दादाभाई (जेआरडी) टाटा ने 1932 में इस एयरलाइन की स्थापना की थी। उस समय उसे टाटा एयरलाइन कहा जाता था।

 एयर इंडिया का 1953 में राष्ट्रीयकरण किया गया था। उसके बाद भी इस कंपनी में सरकार का 100 प्रतिशत स्वामित्व था। सरकार द्वारा 2017 से इसकी हिस्सेदारी बेचनी शुरू कर दी गयी थी। क्योकि कर्ज का बोझ बढ़ गया था। 

देश-दुनिया  से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे साइट जागरूक हिन्दुस्तान से जुड़े तथा हमारे फेसबुक  और  ट्वीटर अंकाउड  को फालो करके हमारे नये आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related