68500 सहायक अध्यापक भर्ती; इलाहाबाद कोर्ट सहायक अध्यापक भर्ती में पुनर्मूल्यांकन काउंसलिंग व नियुक्ति पर 3 हफ्तो में निर्णय

0
89
सहायक अध्यापक भर्ती
Credit JagRuk Hindustan

68500 सहायक अध्यापक भर्ती में पुनर्मूल्यांकन व नियुक्ति पर आज इलाबाद हाईकोर्ट ने तीन हफ्तो में सरकार को निर्णय लेने और का आदेश बेसिक शिक्षा के आश्वासन के बाद याचिका को निस्तारित कर दिया हैं। कोर्ट ने कहा हैं, कि यदि उनके आदेश का पालन नहीं किया गया तो जिन लोगो ने इसकी याचिका कोर्ट में दाखिल की थी वो लोग कोर्ट आ सकते हैं।

विस्तार-

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आज 68500 सहायक अध्यापक भर्ती में पुनर्मूल्यांकन में सफल छात्रो की नियुक्ति पर निर्णय लेने के लिए बेसिक शिक्षा निर्देशक कोर्ट में पेश होकर अनुपालन का हलफनामा दाखिल करते हुए। शिक्षको की भर्ती को लेकर आश्वासन दिया जिसके बाद कोर्ट ने उनका आश्वासन स्वीकार करते हुए याची की याचिका खारिज कर दी तथा कहा कि तीन सप्ताह में ही बेसिक शिक्षा को इस मामले में नियुक्त पर निर्णय देना होगा। यदि ऐसा नहीं हुआ तो जिसने भी इसके खिलाफ याचिका दाखिल की हैं, वो कोर्ट में पुन आ सकता हैं।

क्यो दाखिल की गयी थी याचिका-

68500 सहायक शिक्षको की भर्ती में पुनर्मूल्यांक के बाद भी सफल अभ्यार्थियों को नौकरी नहीं मिलने की वजह से इसका विरोध करते हुए अभ्यार्थियों ने कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। जिसपर आज कोर्ट में इस फैसले पर सुनवायी थी। जिसके बाद बेसिक शिक्षा अधिकारी कोर्ट में पहुचँ कर ये उन्होने कोर्ट को ये आश्वासन दिलाया की जल्द ही इन अभ्यार्थियों की भी नियुक्ति की जायेगी।

खबरे तो ये भी आर रही हैं, कि 68500 सहायक अध्यापक भर्ती में पुनर्मूल्यांकन व नियुक्ति में पहले से कार्यरत शिक्षको की नौकरी भी जा सकती हैं। इस मामले में लखनऊ खंडपीठ में सीबीआई जाँच की भी बात कही गयी। तथा कई शिक्षको ने आरोप लगाया है, कि वो साढ़े तीन माह से बिना वेतन के पढ़ा रहे हैं।

ऐसी ही देश व विदेश  से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे साइट जागरूक हिन्दुस्तान से जुड़े तथा हमारे फेसबुक और ट्वीटर अंकाउड को फालो करके हमारे नये आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here