UP में उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने कोरोना की वजह से 706 शिक्षको के नाम की लिस्ट के साथ पंचायत चुनाव मतगणना टालने की माँग

0
UP Election 706 शिक्षको
Credit JagRuk Hindustan

Uttar Pradesh में उत्तर प्रादेशिय प्राथमिक शिक्षण संघ की ओर से आज योगी सरकार तथा राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र भेजकर ग्राम पंचायत चुनाव मतगणना टालने की माँग की गयी हैं। इसके साथ-साथ UP Election 706 शिक्षक कोरोना के शिकार हुए शिक्षको की लिस्ट भी भेजी गयी हैं।

विस्तार-

उत्तरप्रदेश में ग्राम पंचायत चुनाव की मतगणना चल रही हैं इसी बीच उत्तर प्रदेशीय शिक्षण संघ ने यह दावा किया हैं कि कोरोना की वजह से UP Election में 706 शिक्षको ने अपनी जान गवा दी हैं। शिक्षक संघ ने उत्तरप्रदेश में कोरोना के बढ़ते हुए प्रकोप को मद्देनजर रखते हुए  यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ जी को और राज्य निर्वाचन आयोग को 706 शिक्षको की कोरोना से मौत हुई हैं इस लिस्ट के साथ पत्र लिखकर पंचायत चुनाव के मतगणना को टालने की माँग की हैं।

जबसे 706 शिक्षको की कोरोना का शिकार होने की लिस्ट उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ द्वारा जारी की गयी हैं। विपक्ष द्वारा भी सियासत जारी हो गयी हैं।

प्रियंका गाँधी ने ट्वीट किया-

Priyanka Gandhi Twitter Handel

Credit JagRuk Hindustan

काग्रेंस महासचिव प्रियंका गाँधी ने ट्वीटर पर ट्वीट किया कि यूपी पंचायत चुनावो की ड्यूटी में लगे लगभग 500 शिक्षको की मृत्यु की खबर दुखद व डरावनी हैं।चुनाव ड्यूटी कराने वालो की सुरक्षा का प्रबंध जब लचर था। तब क्यो उनको भेजा गया? UP Election में 706 शिक्षको के परिवारो को 50 लाख रूपये तथा आश्रितो को नौकरी माँग का मैं समर्थन करती हूँ।

शिक्षक संघ का दावा-


उत्तर प्रदेश शिक्षक संघ ने दावा किया हैं कोरोना की वजह से उन जिलो में शिक्षको की ज्यादा मौते हुई है जहाँ चुनाव हो चुका हैं।उन्होने कहा की ज्यादातर शिक्षक पंचायत चुनाव की ड्यूटी के बाद संक्रमित हुए हैं । संघ की ओर से सोमवार को कोरोना के शिकार हुए 706 शिक्षको की लिस्ट के साथ यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ तथा राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र भेजा गया हैं। 

ऐसी ही खबरे और देश व विदेश  से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे साइट जागरूक हिन्दुस्तान से जुड़े तथा हमारे फेसबुक और ट्वीटर अंकाउड को फालो करके हमारे नये आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here