उत्तरप्रदेश में बनने जा रही हैं मुम्बई से भी सुंदर फिल्म सिटी जानिए यूपी में कहाँ बनेगी फिल्म सिटी

0
195
उत्तरप्रदेश फिल्म सिटी
Credit JagRuk Hindustan

जब से सुशांत सिंह राजपूत का मामला हुआ हैं, तबसे मुम्बई फिल्म सिटी तथा बॉलीवुड पर सवाल लगातार उठ रहा हैं। कई फिल्म इंड्रस्ट्री से ताल्लुक रखने वाले स्टार का मानना हैं, कि बॉलीवुड में उन्हें अधिकतर नेप्टोनिज्म का सामना करना पड़ा हैं। जिसको मद्देनजर रखते हुए अब उत्तरप्रदेश में बनने जा रही हैं, मुम्बई जैसी फिल्म सिटी चलिए हम आपको बताते हैं, कि यूपी में कहाँ पर बनेगी फिल्म सिटी

विस्तार-

मुम्बई में बॉलीवुड में लगातार बाहर से आये हुए एक्टर व एक्टर्स के साथ आउड साइडर का व्यवहार किये जाने का मामला सामने आ रहा हैं। कई एक्टर व एक्टर्स द्वारा ये आरोप लगाया जा रहा हैं, कि जो लोग बॉलीवुड में बाहर से आते हैं, उनके साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया जाता हैं, उनसे फिल्मे छीनकर हमेशा जाने-माने अभिनेताओ और डायरेक्टर्स के बेटे बेटियों को दे दिया जाता हैं। उनके साथ हमेशा यहाँ गैर जैसा व्यवहार किया जाता हैं, इसमें सबसे पहले नाम आता हैं।

कंगना रनौत का जिन्होने सुशांत सिंह राजपूत के मौत के बाद से ही ये बोलना शुरू कर दिया हैं। कि बॉलीवुड में बहुत ही मूवी माफिया काम करते है तथा बॉलीवुड में बहुत ही ज्यादा नेप्टोनिज्म हैं। जिसको मद्देनजर रखते हुए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी ने कहा हैं, कि देश को अब एक अच्छे फिल्म इंड्रस्टी की तलाश है, इसके लिए उत्तर-प्रदेश काफी अच्छा रहेगा तथा उन्होने सोमवार को विडियो क्रांफेंस के जरिये अधिकारियों से बात करते हुए। उत्तर-प्रदेश में देश की सबसे खुबसूरत फिल्म सिटी बनाने की बात की हैं।

कहाँ पर बनेगी फिल्म सिटी-

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ जी ने अधिकारियों से बात करते हुए फिल्म सिटी बनाने के लिए उत्तर-प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर को चुना हैं।  गौतम बुद्ध नगर के ग्रेटर नोएडा में देश की सबसे खूबसूरत फिल्म सिटी बनायी जायेगी। उन्होने ने कहा फिल्म सिटी के लिए ग्रेटर नोएडा, नोएडा और यमुना एक्सप्रेसवे का क्षेत्र सबसे अच्छा रहेगा।

उत्तर-प्रदेश में फिल्म सिटी बन जाने के फायदे-

कल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अधिकारियों के साथ विकास कार्यो का जायजा ले रहे थे, कि अभी तक कहाँ पर कितना कार्य हुआ हैं, और कितना कार्य बाकि हैं, तभी उन्होने ये फैसला लिया कि उत्तर-प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में देश की सबसे अच्छी फिल्म सिटी बननी चाहिए। उनका मानना हैं, कि फिल्म सिटी बन जाने के कारण जिन लोगो से फिल्मे छीन जाती थी। उनको मौका मिलेगा तथा उत्तर-प्रदेश के युवाओ को इससे काफी लाभ मिलेगा तथा उन्हे अपनी प्रतिभा दर्शाने का भी मौका मिलेगा। और इससे उत्तर-प्रदेश में रोजगार भी बढ़ेगा।

इसके साथ ही साथ उन्होने ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रस वे के कार्य को 2020 दिसम्बर तक पूर्ण कर देने का आदेश दिये हैं।

इस तरह उत्तरप्रदेश की हर जानकारी से जुड़े रहने के लिए हमारी साइट जागरूक हिंदुस्तान  से जुड़े। आप हमारी  फेसबुक    ट्विटर पेज  से जुड़कर हमारे हर एक आर्टिकल की नोटिफिकेशन्स भी पा सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here