UP Politics News; उत्तरप्रदेश के चुनाव के बाद मुस्लिम पक्ष अखिलेश यादव से नाराज कह डाली इतनी बड़ी बात खतरे में सपा का वजूद

Date:

UP Politics News |UP Politics ; उत्तर प्रदेश चुनाव के बाद से देखा जा रहा हैं, कि मुस्लिम समुदाय जिसे सपा का समर्थक कहा जाता था। वो नाराज नजर आ रहे हैं कुछ दिन पहले आजम खान के समर्थको द्वारा अखिलेश यादव पर आरोप लगाया गया। तो अब कमाल फारूखी का कहना हैं, कि- "ये अवसरवाद की एक जिंदा मिसाल, मुसलमान देखेंगे दूसरा विकल्प"

UP Politics News-

क्या कहा कमाल फारूखी ने-

उत्तर प्रदेश; कमाल फारूखी द्वारा दिये गये एक इंटरव्यू में जब उनसे पूछा गया कि-  क्या हाल के कुछ घटनाक्रमों को देखते हुए यह कहना सही होगा कि मुसलमानों का सपा से मोहभंग हो रहा है?

इसका जवाब ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य कमाल फारूकी देते हुए कहा कि-  मुसलमानों का ‘राजनीतिक नैपकिन’ की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। उनको इसके बारे में सोचना पड़ेगा कि क्या उन्होंने ऐसी पार्टियों का समर्थन करने का ठेका ले रखा है, जो मुसलमानों के बारे में बोलती तक नहीं हैं। आज मुस्लिम समुदाय में बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं, जो इस बारे में विचार कर रहे है। अगर सपा को 100 से अधिक सीटें मिली हैं तो इसमें सबसे बड़ा योगदान मुस्लिमों का हैं। अखिलेश यादव को इस बात अंदाजा नहीं हो रहा है कि अगर वह बोलेंगे नहीं तो उनका राजनीतिक वजूद खतरे में पड़ सकता हैं।

उन्होने कहा काग्रेंस पार्टी से उम्मीद हैं-

जब उनसे पूछा गया कि क्या वो  ऐसे में क्या कांग्रेस या फिर किसी सूरत में भाजपा भी विकल्प के रूप में देखते हैं। इसपर जवाब देते हुए उन्होने कहा कि- मुझे अभी भी कांग्रेस जैसी पार्टी से उम्मीदे हैं। कोई एक बार बहुत नीचे चला जाता है तो ऊपर उठता जरूर हैं। आगे ये हो सकता है कि कांग्रेस के लोगों को अक्ल आ जाये और वे फिर से उठने की पूरी कोशिश करे।

लेकिन फिलहाल अभी उत्तर प्रदेश में कांग्रेस मुसलमानों के लिए विकल्प नजर नहीं आती हैं। आगे इसके बारे में अभी  कुछ नहीं कहा जा सकता हैं। मुझे लगता है कि समय आने पर कोई न कोई विकल्प जरूर सामने आयेगा। जहां तक भाजपा का सवाल है तो मुसलमान कभी खुदकुशी नहीं कर सकते हैं। क्योकि भाजपा का एजेंडा साफ है. उसे मुसलमानों से कोई लेना-देना नहीं है। पार्टी को ध्रुवीकरण के जरिये वोट हासिल करना है। ऐसे में मेरी यही राय हैं कि मुसलमान-धर्मनिरपेक्ष विकल्प के साथ ही रह सकते हैं।

उन्होने एमआईएम पर भी बोला कि मुस्मिल समुदाय ने इस बार के चुनाव में ये साबित कर दिया कि वो धर्मनिरपेक्ष के रास्ते पर चलेगे। नाकि कोई मुसलमान किसी भी सूरत में सांप्रदायिक राजनीति के चक्कर में पडेंगे। 

अखिलेश यादव पर साधा निशाना-

कमाल फारूखी ने कहा कि अखिलेश यादव को चुनाव के व्यक्त मुस्लिमो की याद आती हैं, हालहि में इस समय जो देश में हो रहा हैं। उसपर अखिलेश चुपी साधे हैं। वो अवसरवादी है. वोट की बात तो दूर छोड़िए, उसूल नाम की भी कोई चीज है या नहीं। जयंत चौधरी ने अपनी बात रखी है और उन्होंने कम से कम हिम्मत तो दिखाई है। लेकिन अखिलेश बिल्कुल खामोश हैं। आने वाले चुनाव में फिर से उन्हें मुस्लिम समुदाय की याद आ जायेगी।

ऐसा कहा जा रहा हैं कि कमाल फारूखी के ट्वीट के बाद दूसरे दिन अखिलेश यादव ने इफ्तार को लेकर ट्वीट करते हैं। 

मनोरंजन व देश-विदेश से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे साइट जागरूक हिन्दुस्तान से जुड़े तथा हमारे फेसबुक और ट्वीटर अंकाउड को फालो करके हमारे नये आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाये। UP Breaking News | Uttar Pradesh Politics News| KamalF arooqui slams Akhilesh Yadav|

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related