इस्लामिक धर्म प्रचारक जाकिर नाइक ने फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ उगला जहर

0
जाकिर नाइक फ्रांस राष्ट्रपति
Credit JagRuk Hindustan

इस्लामिक धर्म प्रचारक जाकिर नाइक ने फ्रांस के राष्ट्रपति के लिए उगला ज़हर। वैसे ज़ाकिर नाइक दुनिया भर में इस्लाम के नाम पर नफ़रत फ़ैलाने का काम करते है। जाकिर नाइक के ज्यादातर बयान हमेशा विवादस्पद तथा नफ़रत फ़ैलाने वाले ही होते है। जबसे फ्रांस के राष्ट्रपति एम्मानुएल मैक्रॉन ने इस्लामिक आतंकवाद पर टिपण्णी की है तबसे वह दुनिया भर के कई इस्लामिक देशो के निशाने पर आ गए है। ऐसे में इस्लामिक धर्म प्रचारक तथा भगौड़े जाकिर नायक ने भी उन पर धमकी भरे लहजे में हमला किया है।

कहा दर्दनाक सजा मिलेगी -

ज़ाकिर नाइक ने अपने फेसबुक पर एक पोस्ट शेयर किया। इसमें लिखा थी की इस्लाम और पैगम्बर के बारे में कुछ भी आपत्तिजनक कहने वालो को दर्दनाक सजा मिलेगी। हलाकि ये पहली बार नहीं है जब ज़ाकिर नाइक ने ऐसा कोई बयान दिया हो। इसके पहले ज़ाकिर नाइक ने ये कहा था की जो भी गैर मुस्लिम इस्लाम का अपमान करने उसे तुरंत गिरफ्तार कर लेना चाहिए।

अपने बयान में उसका यह तक कहना था की सभी इस्लामिक देशो को अपने यहाँ आने वाले गैर मुसलमानो का एक आकड़ा रखना चाहिए। और अगर कोई इस्लाम के विरुद्ध कुछ बोले तो उसे तुरंत सजा मिलनी चाहिए। हलाकि इस तरह की विचारधारा एक कुंडित मानसिकता का प्रमाण स्वरुप है।

भगौड़े है ज़ाकिर नाइक -

ज़ाकिर नाइक शुरू से ही सीधे साधे लोगो को धर्म के नाम पर बरगलाता है। जिसकी वजह से कई देशो ने उसके अपने देश में आने पर बैन लगाया है। हालही में मलेशिया ने भी ज़ाकिर नाइक पर बैन लगा दिया। सरकार का कहना है की इस तरह की विचारधारा के प्रचारक देश में असहिष्णुता का माहौल बनाते है। तथा किसी देश की सन्ति के लिए खतरा है। 

क्या कहा फ्रांस के राष्ट्रपति ने -

फ्रांस के राष्ट्रपति के जिस बयान पर इतना बवाल मचा है। वो तब सामने आया जब पेरिस के एक विश्वविद्यालय में इतिहास पड़ने के दौरान एक शिक्षक ने अभिवयक्ति के मायने समझने के लिए पैगम्बर मोहम्मद का कार्टून दिखाया। और इससे नाराज एक शख्स ने उस शिक्षक की गला काटकर हत्या कर दी। इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए राष्ट्रपति एम्मानुएल मैक्रॉन ने इस्लामिक आतंकवाद की निंदा की। 
उन्होंने अपने बयान में कहा आज इस्लामिक आतंकवाद की ये विचारधारा दुनिया के सभी देशो के लिए खतरा बनता जा रहा है। पर जो लोग भी फ्रांस को दबाना चाहते है उन्हें हमसे डरने की जरूरत है। उन्होंने फ्रांस में मौजूद मुसलमानो के लिए भी चिंता व्यक्त की और कहा की उन्हें इस बात का भय है कही ये भी मुख्यविचार धरा से भटक न जाये।

इस्लामिक देशो में उनका भारी विरोध

एम्मानुएल मैक्रॉन के इस बयान के बाद कई इस्लामिक देशो ने उनके खिलाफ बयानबाजी तेज कर दी। तुर्की पाकिस्तान समेत कई इस्लामिक देशो में फ्रांस के बने सामने का विरोध करने की मांग बढ़ रही है। 

ऐसी ही खबरे और देश व विदेश  से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे साइट जागरूक हिन्दुस्तान से जुड़े तथा हमारे फेसबुक और ट्वीटर अंकाउड को फालो करके हमारे नये आर्टिकल्स की नोटिफिकेशन पाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here